एमपी के इस स्कूल की अनूठी पहल, ‘बापू गैलरी’ से बच्चे जान रहे हैं गांधी का इतिहास

डिंडौरी।प्रकाश मिश्रा।

जिले में एक विद्यालय ऐसा भी है जहां स्वतंत्रता के महानायक महात्मा गांधी के बचपन से लेकर मृत्यु तक का चरित्र चित्रण विद्यालय की दीवारों में सचित्र गैलरी के रूप में लगाया गया है। बता दें कि जिले के डिंडोरी विकासखंड के अंतर्गत प्राथमिक एवं माध्यमिक शाला नरिया में शिक्षकों ने एक अनूठी पहल की है ।स्कूली बच्चों को गांधीजी के इतिहास को बताने के लिए सचित्र बापू की गैलरी को पोस्टरों के माध्यम से दीवारों में क्रमवार लगाया गया है ।बता दें कि यह वही विद्यालय है जो लगातार उत्कृष्ट कार्य करने के लिए कई सम्मान प्राप्त कर चुका है। बापू की गैलरी में उनका बचपन शिक्षा-दीक्षा तथा देश की स्वतंत्रता के लिए किए गए उनके प्रयासों को सचित्र चित्रण किया गया है। शिक्षकों की माने तो स्कूलों के पाठ्यक्रमों मैं तो पूज्य महात्मा गांधी के बारे में पढ़ाया ही जाता है किंतु इस बापू की गैलरी के माध्यम से स्कूल के बच्चे रोज उनका इतिहास देखते पढ़ते और दोहराते हैं जिससे बापू के विचारों को जानने और उनका अनुसरण करने की प्रेरणा बच्चों को मिल रही है ।स्कूली बच्चों को भी रुचि के साथ गैलरी में लगे इतिहास को पढ़ते हुए देखा जा सकता है। विद्यालय के बच्चों ने बताया कि गांधी जी की 150वीं जयंती के बाद यह प्रदर्शनी विद्यालय में लगाई गई है यहां सिर्फ स्कूल के बच्चे ही नहीं बल्कि अन्य विद्यालयों के बच्चे भी इसे देखने और पढ़ने के लिए आते हैं।

एमपी के इस स्कूल की अनूठी पहल, 'बापू गैलरी' से बच्चे जान रहे हैं गांधी का इतिहास एमपी के इस स्कूल की अनूठी पहल, 'बापू गैलरी' से बच्चे जान रहे हैं गांधी का इतिहास एमपी के इस स्कूल की अनूठी पहल, 'बापू गैलरी' से बच्चे जान रहे हैं गांधी का इतिहास एमपी के इस स्कूल की अनूठी पहल, 'बापू गैलरी' से बच्चे जान रहे हैं गांधी का इतिहास एमपी के इस स्कूल की अनूठी पहल, 'बापू गैलरी' से बच्चे जान रहे हैं गांधी का इतिहास