जब मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते की फिसली जुबान, दिया विवादित बयान

डिंडौरी, डेस्क रिपोर्ट। केंद्र सरकार में इस्पात एवं ग्रामीण विकास विभाग राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते अपने विवादित बयान को लेकर चर्चा में हैं, उन्होंने हेमा मालिनी  पर एक टिप्पणी कर दी है, जिसे लेकर उनकी आलोचना की जा रही है। केंद्रीय इस्पात एवं ग्रामीण विकास विभाग के राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते मध्य प्रदेश में समनापुर विकासखंड के नान डिंडौरी गांव में जल जीवन मिशन योजना के तहत नल जल योजना कार्यक्रम का भूमिपूजन करने आए थे, मौके पर राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, डिंडोरी के कलेक्टर रत्नाकर झा से बात कर रहे थे, वहां और भी कई लोग मौजूद थे, वे गांव अमरपुर की सड़कों के बारे में बता रहे थे, उन्होंने सबके सामने कहा- ‘उस गांव में ठेकेदार ने सड़क तो अच्छी बना दी हैं, हेमा मालिनी के गाल जैसी, पानी नहीं है गांव में, पूरे गांव के लोग परेशान हैं। ‘उन्होंने आगे कहा कि ठेकेदार ने रोड तो बना दी लेकिन पाइप लाइन में तोड़-फोड़ कर दी, इसलिए सभी ठेकेदारों की बैठक लेकर निर्देश दीजिए कि सड़क निर्माण के दौरान बिछी हुई पाइप लाइन को नुकसान न पहुचाएं, अगर किसी वजह से पाइप लाइन खराब होती है तो उसका सुधार कार्य करवाएं। राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते समनापुर विकासखंड के नान डिंडौरी गांव में जल जीवन मिशन योजना के तहत नल-जल योजना कार्यक्रम का भूमिपूजन करने आए थे। इस नल-जल योजना से दो गांव के लगभग दो हजार ग्रामीणों के घरों में पानी पहुंचाने की योजना है।

यह भी पढ़े.. अब बिजली अमले के साथ दुर्व्यवहार करने या हमला करने वालों की खैर नहीं

राज्यमंत्री ने मौके पर मौजूद ग्रामीणों के सामने कलेक्टर रत्नाकर झा से कहा कि  ठेकेदार ने सड़क तो हेमा मालिनी के गाल जैसी चिकनी बना दी है, लेकिन पाइप लाइन को क्षतिग्रस्त कर दिया है। ग्रामीणों को पानी नहीं मिल पा रहा है। इसलिए सभी ठेकेदारों की बैठक लेकर निर्देश दीजिए कि सड़क निर्माण के दौरान बिछी हुई पाइप लाइन को नुकसान न पहुंचाएं। अगर किसी कारणवश पाइप लाइन खराब होती है तो उसका सुधार कार्य करवाएं। दरअसल केंद्रीय राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते के काफिले को अमरपुर गांव के ग्रामीणों ने रोक लिया। उन्हें समस्या बताई कि सड़क निर्माण करने वाले ठेकेदार ने सड़क तो अच्छी बना दी है लेकिन पाइप लाइन उखाड़कर चला गया है। गांव में पिछले पंद्रह दिनों से पीने योग्य पानी नहीं मिल रहा है। फिलहाल मंत्री का यह बयान सामने आने के बाद अब विपक्ष को हमला बोलने का एक और मौका मिल गया है, मध्य परेश कांग्रेस के मीडिया प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने इसे महिलाओं का अपमान करार दिया है।