खराब सफाई व्यवस्था देख भड़कीं जिला कलेक्टर, जिम्मेदारों पर जताई नाराजगी

जिला कलेक्टर आर. उमामहेश्वरी ने शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर सड़क पर पैदल भ्रमण कर निरीक्षण किया साथ ही अधिकारियों को व्यवस्थाओं को लेकर दिशा निर्देश दिये।

अशोकनगर, हितेंद्र बुधौलिया। अशोनगर जिले की कलेक्टर आर. उमामहेश्वरी जिले की व्यवस्थाओं के निरीक्षण और उन्हें दुरुस्त करने के लिये एक्शन मोड़ में हैं, जिसके कारण लगातार उनकी चर्चा हो रही है। इसी कड़ी में जिला कलेक्टर आज गुरुवार को अशोकनगर शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर सड़क पर पैदल भ्रमण कर निरीक्षण किया। अमूमन कलेक्टर या अन्य अधिकारी औपचारिक तौर पर ही सफाई जैसी व्यवस्थाओं पर काम करते दिखते हैं। मगर कलेक्टर आर उमामहेश्वरी ने अंदर शहर का आधा इलाका पैदल ही नाप दिया। ना केवल साफ-सफाई बल्कि मौके पर दिखे अन्य व्यवस्थाओं पर अधिकारियों को काम करने का निर्देश दिये।

ये भी पढ़ें- खाद की कालाबाज़ारी पर सख्त MP सरकार, बोले Narottam- दोषियों पर लगेगी रासुका

निरीक्षण के दौरान बाजार में खड़े बजरी के ट्रैक्टरों को कलेक्टर ने जप्त कर कार्रवाई के निर्देश दिए। इस दौरान कलेक्टर का एक संवेदनशील रूप भी देखने को मिला जब सुबह सवेरे उन्हें कचरा बीन रहे बच्चे मिले जो कंधे पर बड़े-बड़े बोर लटकाये थे। कलेक्टर ने बच्चों से स्कूल जाने के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि उनका स्कूल में नाम नहीं लिखा गया है जिसपर कलेक्टर ने एसडीएम को बच्चों के एडमिशन कराने के साथ ही किताबें और ड्रेस देने निर्देश दिए। इसी के साथ कलेक्टर ने भ्रमण कर सफाई व्यवस्था का जायजा लिया जहां जगह-जगह पर गंदगी देख नगर पालिका सीएमओ पी के सिंह पर नाराज़गी जताते हुए कार्य समय पर कराने के निर्देश दिये, इसी के साथ एचडीएफसी चौराहे से राजमाता चौराहे तक खाली पड़े डिवाइडरों में पेड़-पौधे लगाए जाने के संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए।