जयस महापंचायत में डॉ हीरालाल अलावा ने BJP सरकार पर साधा निशाना, कही ये बात

इस दौरान जयस के राष्ट्रिय अध्यक्ष डॉ हीरालाल अलावा ने प्रदेश और केंद्र की सरकार को जमकर घेरा। इस दौरान उन्होंने संविधान की पांचवी अनुसूची एवं पेशा कानून के मुद्दों पर बात की।

धार, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya pradesh) में उपचुनाव की तैयारी ज़ोर शोर से शुरु हो चुकी है। चारों ओर विभन्न दलों के प्रत्याशी आगामी चुनावों में धर पकड़ जमाने में लगे हैं। तो वहीं धार जिले के लुनेरा में आज बुजुर्गों और जयस ने महापंचायत का आयोजन किया जिसमें हजारों जयस कार्यकर्ता शामिल हुए। कार्यक्रम में जयस के राष्ट्रिय अध्यक्ष डॉ हीरालाल अलावा मौजूद हुए।

ये भी पढ़ें- BCCI चैलेंजर ट्रॉफी में ग्वालियर की अनुष्का होंगी “इंडिया बी” की कप्तान, MP की दो और बेटियां का भी चयन

इस महापंचायत का मुख्य उद्देश्य 2023 और 24 के चुनाव में युवा आदिवासी लोकसभा और विधानसभा में अपने हक की लड़ाई लड़ने और इस महापंचायत के माध्यम से संविधान की पांचवी अनुसूची एवं पेशा कानून को ग्राउंड लेवल पर अमल करें। पांचवी अनुसूची के साथ-साथ पेशा कानून के मूल भावनाओं के अनुरूप उसके नियम नहीं बनाए गए, तो निश्चित ही मध्य प्रदेश सरकार हमारी मांग के अनुसार उसमें संशोधन करे और इसके आधार पर मजबूत करें और ग्राम सभाओं को मजबूत करे। इस दौरान जयस के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ हीरालाल अलावा ने राज्य की बीजेपी सरकार को जमकर घेरा। राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि चुनाव आते ही सरकार को घोषणाएं याद आ जाती हैं।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने उप चुनाव को देखते हुए पेशा कानून का नियम लागू करने की घोषणा की है लेकिन एक तरफ नेपानगर कांड में कहते हैं क् आदिवासी के मुकदमे वापस लिए जाएंगे तो दूसरी तरफ जोबट में आदिवासी पर मुकदमों मुकदमे दर्ज करवा रहे हैं।