छतरपुर में प्रशासन की एंटी माफिया अभियान के तहत कार्यवाही, 25 लाख से अधिक की भूमि कराई मुक्त

मध्य प्रदेश राज्य में एंटी माफिया अभियान के तहत कार्यवाही लगातार जारी है। माफिया मुक्त राज्य का सपना जिसे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ना केवल देखा बल्कि उसके क्रियान्वयन के लिए लगातार अधिकारियों को निर्देशित भी किया।

Chhatarpur

छतरपुर,डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश राज्य में एंटी माफिया अभियान के तहत कार्यवाही लगातार जारी है। माफिया मुक्त राज्य का सपना जिसे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ना केवल देखा बल्कि उसके क्रियान्वयन के लिए लगातार अधिकारियों को निर्देशित भी किया। आज न केवल भू माफियाओं के लिए खौफ का सबब बन चुका है बल्कि सरकार के प्रति लोगों के अंदर विश्वास भी पैदा कर रहा है।

Must Read : जब सरपंच ने जिला पंचायत सीईओ से पूछा: ईमानदार होना गलत है क्या?

इसी एंटी माफिया अभियान के तहत आज कलेक्टर छतरपुर द्वारा जिले में कार्यवाही की गई। आपको बता दें ना केवल प्रशासन द्वारा कार्यवाही को अंजाम दिया गया बल्कि सोशल मीडिया के माध्यम से गैर कानूनी काम करने वाले लोगों को चेतावनी भी दी गई। कलेक्टर छतरपुर ने ट्विटर हैंडल के माध्यम से लिखा कि “गुंडे, बदमाश, अवैध प्लाटिंग करने वाले और अतिक्रमणकारी अब प्रशासन के रडार पर, लगेगा अंकुश”। जनता को बहकाकर शासकीय जमीन बेंचने वालों पर प्रशासन की बड़ी कार्यवाही, कलेक्टर संदीप जीआर के निर्देशन में शासकीय जमीन कब्जे से मुक्त।

आगे की कार्रवाई कर छतरपुर प्रशासन ने नजूल छतरपुर की शासकीय भूमि नजूल शीट 29–द को अतिक्रमणकारियों से मुक्त कराया। ट्वीट के माध्यम से प्रशासन ने जानकारी दी कि राकेश, अशोक पिता स्वामीप्रसाद अग्रवाल द्वारा उक्त शासकीय भूमि पर दुकानें, वाहन व बाउंड्रीवाल बना कर अवैध कब्जा किया गया था, जिसे अब प्रशासन द्वारा मुक्त करा लिया गया है। इसके बाद प्रशासन ने पोस्ट ऑफिस छत्रसाल चौक के पास 25 लाख कीमत की 2 हजार वर्गफीट शासकीय भूमि को अतिक्रमणकारियों के कब्जे से मुक्त कराया।

निश्चित ही प्रशासन की यह कार्यवाही आम जनता में प्रशासन और सरकार के प्रति विश्वास को मजबूत करने में मददगार साबित होगी और अतिक्रमणकारियों में खौफ पैदा कर एक सबक का विषय बनेगी।