बैतूल, वाजिद खान। किसान बिल (Agriculture Bill) को लेकर एक छोर पर जहां किसान (Farmers) इस बिल को वापस लेने की मांग पर अड़े हुए है, वहीं दूसरे छोर पर केंद्र सरकार (Central Government) इस बिल में संसोधन करने तो तैयार है पर इस बिल को वापस नहीं लेने की बात कह रही है। वहीं आज बैतूल में किसान बिल (Agriculture Bill) में सुधार किये जाने की मांग को लेकर भारतीय किसान संघ (Indian Farmers Association) का एक दिवसीय  धरना प्रदर्शन (Protest) किया गया, जिसमें सैकड़ो किसान (Farmers) शामिल हुए और बिल को सुधारने की मांग करते नजर आए।

दरअसल, मध्यप्रदेश के बैतुल में केंद्र सरकार द्वारा लाये गए कृषि कानूनों में सुधार करके लागू किये  जाने की  मांग को लेकर भारतीय किसान संघ ने भी मोर्चा खोल दिया है। जिसके तहत भारतीय किसान संघ के बैनर तले किसानों ने जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन किया। जिले के किसानों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन भी सौंपा है ।

भारतीय किसान संघ के ज्ञापन में किसान बिल में सुधार के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी और उससे कम पर खरीदी करने वालो के खिलाफ जुर्माने का प्रावधान, निजी व्यापरियों का राज्य और केंद्र स्तर पर पंजीयन, स्वतंत्र कृषि न्यायालय, फसल बीमा में खेत को इकाई मानना  ओर सरकार सार्वजनिक   विभागों रेल, बिजली, स्वास्थ्य, शिक्षा विभाग का निजीकरण से ध्यान हटाकर अपनी पूर्ण ज़िम्मेदारी निभाये जाने की बात कही गई ।

इसके अलावा भारतीय किसान संघ ने मुख्यमंत्री को भी समस्याओं से अवगत कराते हुए लिखा है कि 2018 मंडी में  सोयाबीन,मक्का की  फसल विक्रय पर पांच सौ रुपये क्विंटल फ्लेट रेट,  राज्य सरकार द्वारा कर्ज़ माफी का पैसा अविलम्ब खातों में डाला जाए, गन्ना किसानों को 70 रुपये बोनस तथा जिले में खराब ट्रांसफार्मरों को बदला जाये ।

 

Farmer's Protest : कृषि कानूनों में सुधार की मांग को लेकर भारतीय किसान संघ का धरना,सैकड़ो किसान हुए शामिल Farmer's Protest : कृषि कानूनों में सुधार की मांग को लेकर भारतीय किसान संघ का धरना,सैकड़ो किसान हुए शामिल  Farmer's Protest : कृषि कानूनों में सुधार की मांग को लेकर भारतीय किसान संघ का धरना,सैकड़ो किसान हुए शामिल