इंदौर में भीषण आग, प्लास्टिक गोदाम और दाल मिल में लगी आग

प्रारंभिक तौर पर आग से कोई जनहानि की बात तो सामने नही आई है । वही आगजनी से लाखों के माल का नुकसान होने की बात सामने आई है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। नए साल के शुरुआती सप्ताह में इंदौर (Indore) में भीषण आग (fire Accident) लग गई। शहरी क्षेत्र में लगी आग पर काबू (fire Control) पाने के लिए फायर ब्रिगेड (fire Brigade) को घण्टो मशक्कत करनी पड़ी तब कही जाकर आग पर काबू पाया जा सका। आगजनी की घटना लोहा मंडी के शंकर बाग इलाके की है, जहां रविवार रात को लगी अचानक आग ने इतना भयावह रुख अख्तियार कर लिया कि सोमवार अलसुबह तक ही आग पर काबू पाया जा सका।

मिली जानकारी के मुताबिक आग लगने की वजह तो पता नही चल पाई है लेकिन आग एक अरिहंत काकाणी के गोदाम में लगी है और प्लास्टिक पाइप के गोदाम में लगी आग ने देखते – देखते भीषण रूप ले लिया और आग बेकाबू होकर सूरज दाल मिल तक पहुंची और आग ने दाल मिल में तांडव मचाया जिसके बाद लाखों के नुकसान की आशंका आगजनी से जताई जा रही है।

आगजनी की घटना की जानकारी क्षेत्रीय लोगों ने दमकल और नगर निगम को दी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने आग बुझाने के प्रयास शुरू किए। रात करीब 11 बजे लगी आग को तुरंत इसलिए नहीं बुझाया जा सका क्योंकि क्षेत्र की गलियां संकरी है, जिसके चलते आग पर सोमवार अलसुबह काबू पाया जा सका। जानकारी के मुताबिक रातभर दमकल की टीम मौके पर रही और 20 से ज्यादा टेंकरो के जरिये आग पर जैसे तैसे काबू पाया जा सका।

प्रारंभिक तौर पर आग से कोई जनहानि की बात तो सामने नही आई है । वही आगजनी से लाखों के माल का नुकसान हुआ है। इधर, आग लगने की वजह का पता नहीं चल पाया। वही फायर पुलिस आगजनी के मामले की जांच में जुट गई है। फायरकर्मी संतोष दुबे की माने तो पाइप गोदाम में लगी आग पर काबू पाने में संकरी गलियों की वजह से फायर पुलिस को मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। वही प्रत्यक्षदर्शी रामदास गर्ग की माने तो आग इतनी तेजी से फैली की उसने इलाके के दूसरे स्थानों को भी अपनी चपेट में ले लिया। इसी बीच रहवासियों ने तुरंत दमकल को सूचना दी।