खाद्य विभाग और नगर प्रशासन द्वारा की गई कार्रवाई का व्यापारियों ने किया विरोध, कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

खाद्य विभाग और नगर प्रशासन द्वारा की गई द्वेषपूर्ण कार्रवाई के विरोध में व्यापारियों ने सिवनी-मालवा बंद कर कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है।

होशंगाबाद, राहुल अग्रवाल। मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश भर में चलाए जा रहे मिलावट से मुक्ति अभियान में कई जगह विरोध का सामना भी करना पड़ रहा है। मामला होशंगाबाद के सिवनी-मालवा का है, जहां कल नगर प्रशासन और खाद्य विभाग की टीम ने शहर में कई दुकानों पर जांच की। जहां से बड़ी मात्रा में एक्सपाइरी डेट का कोल्डड्रिंक और अन्य खान-पान सामग्री बरामद कर उसे नष्ट कर दिया गया है। जिसका वहां के व्यपारियों ने विरोध किया।

व्यपारियों की माने तो वो उक्त माल बेच नहीं रहे थे, अंदर गोडाउन में रखा हुआ था, जिसे कंपनी में वापस भिजवाना था। जो अधिकारियों द्वारा नष्ट कर दिया गया, जिससे उनका लाखों का नुकसान हुआ है। जिले के व्यापरी संगठन ने आज जिला दंडाधिकारी के समक्ष अपनी बात रखी और एक ज्ञापन निष्पक्ष जांच के लिए सौंपा है।

व्यापारियों ने अधिकारियों पर लगाया ये आरोप

ज्ञापन में उन्होंने यह कहा कल अनुविभागीय अधिकारी अखिल राठौड़ और तहसीलदार दिनेश सांवले द्वारा किराना व्यापारी की दुकानों और ऐजेन्सी के ऊपर अवैधानिक माल जब्ती की कार्रवाई की गई। कोरोना संक्रमण काल में लॉक डाउन के दौरान खाद्य विभाग द्वारा बिक्री पर प्रतिबंधित कर कोल्डड्रिंक्स को भी अनुविभागीय अधिकारी अखिल राठौर और तहसीलदार दिनेश सांवले द्वारा एक्सपायरी बता कर जब्ती बनाई गई। वहीं व्यापारियों की दुकानों पर चूहों द्वारा पैकिंग काटने जैसी व्यवहारिक बात के लिए अधिकारियों ने मिलावट के केस बनाने की धमकी दी है, साथ ही माल की जब्ती बनाई गई। किसी व्यापारी द्वारा बाजार की परिपाटी को समझाने के प्रयास करने पर 420 का केस बनाकर पुलिस से डंडे पड़वाने की भी धमकी दी गई है।

व्यापारियों को दी गई धमकी

बता दें कि उक्त जब्तशुदा सामान की पावती प्रदान नहीं की गई है। अधिकारियो ने माल जब्ती के समय व्यापारियों से अभद्र व्यवहार भी किया है। साथ ही बेस्ट विफोर के माल की व्यापारी द्वारा व्याख्या करने पर पर पुलिस के डंडे का भय दिखाने की धमकी दी।

व्यापारियों से किया अभद्र व्यवहार

व्यापारियों से माल जब्ती के दौरान ऐसा व्यवहार किया गया, जैसे कोई कुख्यात अपराधी की धरपकड़ की जा रही हो। ऐजेन्सी संचालकों के पास कंपनी के प्रावधानों के अनुरूप एक्सपायरी डेट रिप्लेसमेंट पॉलिसी के माल की एक्सपायरी डेट का बोल कर अवैधानिक जब्ती बनाई गई। यह कि भारतीय बाजार के अनुसार बड़ी पैकिंग के उपलब्ध माल को छोटी पेकिंग में वर्षों से बेचे जाने के बाद भी उसी प्रक्रिया को भी गलत ठहराते हुए उस माल की जब्ती भी बनाई गई, यानि 30 किलो की पैकिंग में उपलब्ध आटा, मैदा, रवा एवं दालें इत्यादि को 1 किलो, 2 किलो में ग्राहक को उपलब्ध कराना।

उक्त अधिकारी की कार्रवाई में कानून का पालन न होकर कुछ और इंगित करता है। हम इस तरह की चेष्टा को हम पूरा नहीं कर सकते। यदि उक्त दोनों अधिकारियों को तीन दिवस में नहीं हटाया गया तो सिवनी मालवा किराना व्यापारी एसोसिएशन अनिश्चित कालीन बाजार बंद करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here