ट्रांसपोर्ट कारोबारी के बेटे की हत्या मामले में थाना प्रभारी को हटाने की मांग को लेकर धरने पर बैठे पूर्व मंत्री

ट्रांसपोर्ट कारोबारी के 13 साल के बच्चे का पहले अपहरण और उसके बाद बेदर्दी से उसकी हत्या करने का मामला लगातार तूल पकड़ते जा रहा है।

जबलपुर, संदीप कुमार। ट्रांसपोर्ट कारोबारी के 13 साल के बच्चे का पहले अपहरण और उसके बाद बेदर्दी से उसकी हत्या करने का मामला लगातार तूल पकड़ते जा रहा है। स्थानीय लोगों के बाद अब बच्चे की मौत को लेकर राजनीति भी शुरू हो गई है। पूर्व मंत्री हरेंद्रजीत सिंह बब्बू (Harendrajeet Singh Bablu) संजीवनी नगर थाना प्रभारी और धनवंतरी नगर चौकी प्रभारी को हटाने के लेकर धरने पर बैठ गए।

पूर्व मंत्री हरेन्द्रजीत सिंह का आरोप है कि बच्चे की मौत की जिम्मेदार कहीं ना कहीं जबलपुर पुलिस है, क्योंकि लगातार पुलिस को अपराधियों को पकडऩे का मौका मिल रहा था, बावजूद इसके पुलिस ने लापरवाही बरती। इतना ही नहीं जबलपुर के संजीवनी नगर थाना प्रभारी भूमिसवारी चौहान ने बच्चों के परिजनों की मदद करने की जगह उल्टा उनके परिवार वालों के साथ ही अभद्रता की। पूर्व मंत्री ने कहा कि धनवंतरी नगर और गढ़ा थाना क्षेत्र में लगातार अपराध बढ़ रहे हैं। दोनों ही थाना के थाना प्रभारियों को हटाने के लिए पूर्व मंत्री ने कई बार एसपी से बात की बावजूद इसके जबलपुर के पुलिस अधिकारियों ने इस और कोई भी कार्यवाही नहीं की। नतीजा जबलपुर में अपराध का सैलाब आ गया और बच्चे की मौत हो गई। पूर्व मंत्री हरेन्द्रजीत सिंह ने एसपी से मांग की है कि संजीवनी नगर थाना प्रभारी और धनवंतरी नगर चौकी प्रभारी को तुरंत ही हटाया जाए। गौरतलब है कि करीब 1 सप्ताह पहले ट्रांसपोर्ट व्यवसाय का 13 साल के बेटे को तीन लोगों ने घर के बाहर से पहले अपहरण की और फिरौती की रकम मांगी परिजनों से 8 लाख रु लेने के बाद भी आरोपियों ने मासूम की गला दबाकर हत्या कर दी। हालांकि पुलिस ने तीनों ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। कहा जा सकता है जबलपुर में जिस तरह से लगातार अपराध बढ़ रहा है उसको देखते हुए जबलपुर पुलिस की कार्यवाही में लगातार सवाल भी उठने शुरू हो गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here