भोपाल जहर कांड में चौथी मौत, परिवार के मुखिया ने इलाज के दौरान तोड़ा दम, 4 महिलाएं गिरफ्तार

भोपाल में हुए जहर कांड में रविवार को परिवार के मुखिया संजीव जोशी की भी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। इससे पहले परिवार की दादी और दो पोतियों की भी मौत हो गई थी। मामला सूदखोरी से जुड़ा सामने आया था।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में हुए जहर कांड में अब चौथी मौत की खबर सामने आई है। इलाज के दौरान परिवार के मुखिया संजीव जोशी (47) की भी मौत हो गई है। इससे पहले परिवार की बुजुर्ग महिला और दो बच्चियों की भी मौत हो गई थी जिसके बाद आज रविवार सुबह परिवार के मुखिया ने भी अस्पताल में दम तोड़ दिया। इस मामले में पिपलानी पुलिस ने 4 महिलाएं को गिरफ्तार किया है। फिलहाल पुलिस महिलाओं से पूछताछ कर रही है।

ये भी देखें- धोखाधड़ी मामले में ग्वालियर के BJP नेता गिरफ्तार, तिहाड़ जेल भेजे गए

आपको बता दें भोपाल में शुक्रवार को सूदखोरों से परेशान एक परिवार ने आत्महत्या करने का प्रयास किया था, जिसमें शुक्रवार को बुजुर्ग दादी और छोटी पोती की मौत के बाद शनिवार को बड़ी पोती ने भी दम तोड़ दिया था। वहीं आज रविवार को अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रहे परिवार के मुखिया संजीव जोशी (47) की भी मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक इस मामले में पिपलानी पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 4 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। जिसमें पुलिस ने आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज करते हुए 4 महिलाएं- रानी, बबली, कमला और उर्मिला को गिरफ्तार किया है। मामला सामने आया था कि इन्हीं महिलाओं से संजय जोशी के परिवार का विवाद हुआ था। फिलहाल पुलिस महिलाओं से पूछताछ कर रही है।

सीएम ने दिए सख्त कार्रवाई के निर्देश

इस दर्दनाक हादसे के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अवैध तरीके से सूदखोरी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सूदखोरों-साहूकारों के मनमाना ब्याज लेने से घटित भोपाल की यह घटना हृदय विदारक और असहनीय है। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सीएम ने गलत तरीके से सूदखोरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

जानिए क्या है पूरा मामला

दरअसल शुक्रवार सुबह राजधानी भोपाल के न्यू अशोक विहार कॉलोनी आनंद नगर में एक ही परिवार के पांच सदस्यों ने आत्महत्या की मंशा से जहर पी लिया था। घटना में 16 वर्षीय पूर्वी जोशी (पोती), 19 वर्षीय ग्रीष्मा जोशी (पोती) व 80 वर्षीय नंदिनी जोशी (दादी) की मौत हो गई थी तो वहीं परिवार के मुखिया संजीव जोशी और उनकी पत्नी अर्चना का अस्पताल में इलाज चल रहा था। जिसके बाद आज संजीव जोशी की भी मौत हो गई। मामला सूदखोरी से जुड़ा सामने आया था। जहर पीने से पहले परिवार ने लाइव वीडियो भी बनाया था। साथ ही सुसाइड नोट लिखकर सोशल मीडिया में पोस्ट किया था। इसके अलावा घर की दीवारों पर भी सुसाइड नोट चिपकाया था। इस सुसाइड नोट में बबली नाम की महिला का जिक्र था।