Fraud In Indore : सावधान! लोन एप से निजी डाटा चुरा रहे ठग, फोटो एडिट कर दोस्तों को कर रहे अश्लील कॉल

Fraud In Indore : इंदौर से एक फ्रॉड करने के साथ ब्लैकमेल करने का मामला सामने आया है। एक लोन ऐप को एक युवक द्वारा डाउनलोड किया गया और उससे 32000 का लोन लिया। जिसके बाद उसका निजी डाटा चुरा लिया गया।

Fraud In Indore : इंदौर शहर में लगातार साइबर अपराधों के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। जहां एक तरफ टेक्नोलॉजी को लेकर लोगों को प्रेरित किया जा रहा है और लोग अवेयर हो रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ फ्रॉड के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं। लोग फ्रॉड करने का अलग-अलग तरीका ढूंढ रहे हैं। अभी हाल ही में इंदौर से एक फ्रॉड करने के साथ ब्लैकमेल करने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि एक लोन ऐप को एक युवक द्वारा डाउनलोड किया गया और उससे 32000 का लोन लिया। लेकिन 6 दिन बाद ही युवक के पास धमकी भरे कॉल आने लगे और उससे ब्याज सहित पैसों की मांग की गई।

इतना ही नहीं युवक के फ़ोन से उसका पर्सनल डाटा चुरा कर उसके फोटो अश्लील तरीके से एडिट कर के उसके दोस्तों और फैमिली के लोगों को भेज ब्लैकमेल किया गया। जिसके बाद फरियादी युवक इंदौर के साइबर सेल गया और शिकायत दर्ज करवाई। इसकी जानकारी अपराध शाखा के डीसीपी अग्रवाल द्वारा दी गई है। उन्होंने बताया है कि फरियादी राहुल को पैसों की जरूरत थी। जिसके चलते उसने क्लाउड नाइन ऐप डाउनलोड किया और वहां से 32000 का लोन लिया।

लेकिन 6 दिन बाद ही उसके पास कॉल आया जिसमें उससे ब्याज के साथ पैसों की मांग की गई। इतना ही नहीं राहुल तुरंत पैसे लौटाने में असमर्थ था जिसकी वजह से अपराधी ने राहुल के मोबाइल का डाटा चुरा लिया। वहीं उसके फोन से लिए गए नंबरों पर अश्लील कॉल करना शुरू कर दिए। साथ ही फोटो गैलरी में से फोटो लेकर उन्हें एडिट कर पैसों के लिए ब्लैकमेल किया। इस मामले को लेकर जब राहुल ने साइबरक्राइम में शिकायत दर्ज करवाई तो आरोपी राजकमल कुमार को पुलिस ने हरियाणा से अपनी गिरफ्त में लिया।

जब आरोपी से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि वह बिहार का रहने वाला है। हरियाणा में रहकर वह अपने गैंग के साथ मिलकर हरियाणा और दिल्ली से फर्जी लोन ऐप चलाते हैं। जिसके द्वारा वह लोगों का कांटेक्ट और फोटो गैलरी डाटा चुरा लेते हैं। इतना ही नहीं आरोपी ने यह भी बताया है कि वह फर्जी व्हाट्सएप का दुरुपयोग करके फरियादी को लोन की राशि देने के बाद उन्हें ब्लैकमेल करके डराते धमकाते हैं। वहीं उनके निजी फोटो को अश्लील रूप से एडिट करके फरियादी के परिजनों और दोस्तों को भेजते हैं और ब्लैकमेल करते हैं। इसके अलावा वह पैसों को लोन कंपनी के खातों में जमा करवा कर। उससे कमीशन लेने का काम करते हैं।