ई-श्रम कार्ड बनवाने के चलते गरीब आदिवासियों के साथ फ्रॉड, अब लोन चुकाने के लिए आ रहे फोन

ग्रामीणों के ई-श्रम कार्ड तो बन गए लेकिन अब एक ऑनलाइन फाइनेंस कंपनी धनी एप से उनके पास लोन चुकाने के फोन कर रही है। मड़ियादो पुलिस थाने में इस मामले की शिकायत करने पहुंचे पीड़ितों ने बताया कि कंपनी से हर रोज फोन आते हैं कि उन्होंने जो लोन लिया है उसे चुकाए

दमोह, आशीष कुमार जैन। जिले से ऑनलाइन फ्रॉड का एक बड़ा मामला सामने आया है जहां गरीब आदीवासियो को न सिर्फ ठगा गया बल्कि अब प्रायवेट कंपनी उस पर पैसा चुकाने का दबाव बना रही है और कुछ पीड़ित, पुलिस की शरण मे पहुंचे है। मामला दमोह जिले के मड़ियादो थाने के तहत आने वाले गावँ गलबल टेंशन से सामने आया है जहां रहने वाले पारदी आदिवासी समाज के लोगों को करीब चार महीने पहले एक स्थानीय निवासी संदीप पटेल ने ई-श्रम कार्ड बनवाने के लिए दस्तावेज मांगे और ग्रामीणों ने सरकारी योजनाओं के लाभ की लालच में दस्तावेज दे दिये।

यह भी पढ़ें- IRCTC : ख़राब खाने की शिकायत के बाद एक्शन में Indian Railways, जांच अभियान शुरू

इन ग्रामीणों के ई-श्रम कार्ड तो बन गए लेकिन अब एक ऑनलाइन फाइनेंस कंपनी धनी एप से उनके पास लोन चुकाने के फोन कर रही है। मड़ियादो पुलिस थाने में इस मामले की शिकायत करने पहुंचे पीड़ितों ने बताया कि कंपनी से हर रोज फोन आते हैं कि उन्होंने जो लोन लिया है उसे चुकाए जबकि पीड़ितों को एक पैसा भी लोन नही मिला न नगद और न ही उनके बैंक खातों में पैसा आया।

यह भी पढ़ें- Mandi bhav: 28 मई 2022 के Today’s Mandi Bhav के लिए पढ़े सबसे विश्वसनीय खबर

मामला साफ है कि पीड़ित आदीवासियो के साथ बड़ा फ्रॉड हुआ है जब किसी के नाम से सात हजार तो किसी के नाम से 25 हजार रुपये निकाले गए है। फिलहाल दर्जन भर आदिवासी यहां शिकायत दर्ज कराने पहुंचे है जबकि इलाके में सैकड़ो लोगों के साथ ऐसी धोकाधड़ी होने की खबरे हैं। मड़ियादो थाना प्रभारी विक्रम दांगी के मुताबिक शिकायत के बाद जांच की जा रही है और जल्दी ही दोषियों पर कार्यवाही होगी।