Any Desk डाउनलोड कर धोखाधड़ी करने वाला गिरफ्तार, 100 से ज्यादा लोगों के साथ की ठगी

आरोपी ने देश के कई राज्यों में जाल फैलाया था और 100 से ज्यादा लोगों को ठग चुका था।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। फर्जीवाड़ा करने वाले शातिर ठग ऑनलाइन फ्रॉड (online fraud) बेख़ौफ़ होकर करते हैं लेकिन पुलिस उनके इरादों को  तोड़ देती है। साइबर सेल में भी एक ऐसी ही आरोपी को गिरफ्तार किया है जो गूगल पर कस्टमर केयर (Google Customer Care) के नाम से फर्जी नंबर रजिस्टर्ड कर एनीडेस्क एप (Anydesk App) डाउनलोड करा कर लोगों के साथ धोखाधड़ी करता था, ये शातिर आरोपी अब तक 100 से ज्यादा लोगों के साथ ठगी कर चुका है।

पुलिस अधीक्षक राज्य साइबर सेल ग्वालियर सुधीर अग्रवाल ने बताया कि फरियादिया रजनी भदौरिया (परिवर्तित नाम) द्वारा अपने खाते से एनीडेस्क एप के माध्यम से अपने गूगल पे से 2,54,000 रुपये निकल जाने के संबंध में शिकायत कार्यालय को दी थी , चूँकि इस तरह की शिकायतें पहले भी मिली थी इसलिए इसे गंभीरता से लिया गया। साइबर पुलिस ने शिकायत दर्ज कर इसकी पड़ताल शुरू की।

ये भी पढ़ें – PM Modi की बड़ी घोषणा- 3 जनवरी 2022 से शुरू होगा 15-18 साल के बच्चों का टीकाकरण

पुलिस ने जब शिकायत के आधार पर पड़ताल शुरू की और टेक्नीकल साक्ष्य जुटाए तो बैंक खाते और मोबाइल नंबर अलग अलग जगह के मिल रहे थे।  खातों में UPI और IMPS के माध्यम से पैसों को अलग वॉलेट और खातों में ट्रांसफर किया जा रहा था। साइबर पुलिस ने इसमें आरोपी की तह तक पहुँच बनाई  और आरोपी मोहम्मद मुस्तफा निवासी तेलंगाना को गिरफ्तार कर लिया।

ये भी पढ़ें – ज्योतिरादित्य सिंधिया का कोरोना सेफ शेकहैंड, खिलाड़ियों का किया उत्साह वर्धन   

आरोपी मोहम्मद मुस्तफा ने पूछताछ में बताया कि उसने एक साल पहले गूगल पर गूगल पे (Google Pay) और अन्य कंपनियों के कस्टमर केयर के नाम से फर्जी मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड किये थे , जो भी व्यक्ति गूगल कस्टमर केयर को सर्च करता तो वो आरोपी तक पहुँचता।  आरोपी कॉल करने वाले व्यक्ति से कस्टमर केयर से बात करने क भरोसा दिलाकर उसकी समस्या पूछता, फिर उसका गूगल पे अनस्टॉल कराकर फिर स्टॉल करा देता जिससे उसे एम पिन मिल जाता, उसके बाद फर्जी आवाज बनाकर वरिष्ठ अधिकारी बनकर बात करता, एनीडेस्क एप डाउनलोड कराकर अपने डेस्क में नुस्खा एक्सिस लेकर UPI के माध्यम से पैसे ट्रांसफर कर लेता था।

ये भी पढें – Government Jobs 2021: शिक्षकों के लिए 17000 पदों पर बम्पर भर्ती, सहायक शिक्षकों के लिए भी बड़ी खबर 

पूछताछ में सामने आया कि आरोपी केवल 12 पास है लेकिन दिमाग शातिर चलाता था। आरोपी मुस्तफा ने अब तक 100 लोगों के साथ ऐसे  ठगी की है।  उसके कब्जे से कई बैंक एकाउंट की डिटेल मिली है।  उसन हैदराबाद से गुजरात, पश्चिम बंगाल तक अपना जाल फैला रखा था। उसके जब्त खतों में लाखों का ट्रांजिक्शन मिला है। साइबर पुलिस उससे कड़ी पूछताछ कर रही है।