ट्रेन में नकली क्राइम ब्रांच ऑफिसर बनकर धोखाधड़ी करने वालों का खुलासा, पूर्व BJP पार्षद समेत 4 गिरफ्तार

मामले में एक न्यूज चैनल के पत्रकार, आरपीएफ आरक्षक, पूर्व पार्षद और बिल्डर को क्राइम ब्रांच अधिकारी बनकर जबलपुर के व्यापारी से लूट करने के मामले में गिरफ्तार किया गया है।

खंडवा, सुशील विधानी। खंडवा GRP पुलिस को ट्रेन में नकली क्राइम ब्रांच के अधिकारी (fake crime branch officer) बनकर धोखाधड़ी करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार करने में बडी सफलता मिली है। GRP पुलिस ने शुक्रवार को एक व्यापारी के साथ हुई लूट का पर्दाफाश किया है। दरअसल जबलपुर निवासी व्यापारी मुंबई जाने के लिए वाराणसी एक्सप्रेस में सवार हुआ था। रास्ते में खंडवा से बुरहानपुर स्टेशन के बीच 4 बदमाश क्राइम ब्रांच के अफसर बनकर आए और बैग में रखे रुपए नहीं देने पर व्यापारी को झूठे केस में फंसाने की धमकी देने लगे। बदमाशों ने साढ़े तीन लाख रुपए लूट लिए। जिसके बाद पुलिस ने BJP नेता समेत 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

ये भी पढ़ें- फैमिली पेंशन को लेकर बड़ी राहत, राशि की अधिकतम सीमा बढाई, इतना हुआ इजाफा

ट्रेन में नकली क्राइम ब्रांच ऑफिसर बनकर धोखाधड़ी करने वालों का खुलासा, पूर्व BJP पार्षद समेत 4 गिरफ्तार

मामले के बारे में भोपाल रेल एसपी हितेश चौधरी ने बताया कि, 22-23 अक्टूबर की रात ट्रेन क्रमांक 02168 वाराणसी एलटीटी एक्सप्रेस में जबलपुर निवासी कृष्णकांत पिता गौतम प्रसाद पटेल(35) मुंबई के लिए यात्रा कर रहा था। इस दौरान रेल्वे स्टेशन बुरहानपुर आने से पहले दो अज्ञात व्यक्ति आए और खुद को क्राइम ब्रांच का अफसर बताया। आधार कार्ड, टिकट लेकर जबरदस्ती बैग खुलवाया, जिसमें 5 लाख रुपए थे। जब व्यापारी ने रुपए नहीं दिये तो उसे झूठे केस में फंसाने की धमकी दी। ट्रेन के बाथरूम में ले जाकर डराया और साढ़े 3 लाख रुपए लिए मुंबई से वापस आने के बाद जबलपुर में अपने दोस्तों को बताया। जिसके बाद उन्होंने जीआरपी थाना में शिकायत की। इधर 24 अक्टूबर को जबलपुर में शिकायत की गई जिसपर थाना जीआरपी खंडवा में प्रकरण दर्ज किया गया।

चारों ने मिलकर बनाई थी लूटपाट की योजना

खंडवा GRP थाना प्रभारी बबीता कठेरिया ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी और माल की बरामदगी के लिए टीम बनाई गई थी। टीम ने मुखबिर की सूचना पर नकली क्राइम ब्रांच के कर्मचारी बनकर धोखाधड़ी करने वालों को पता लगाया। जांच के बाद क्राइम ब्रांच का अधिकारी बनकर धोखाधड़ी करने वाले चार आरोपी- जबलपुर आरपीएफ आरक्षक पंकज तिवारी, बीजेपी के पूर्व पार्षद नरेंद्र वर्मा, न्यूज चैनल के ब्यूरो चीफ सचिन राव और इंद्रलोक सिटी बिल्डर सौरभ पिता वीरेंद्र शर्मा शामिल थे जिन्हे जीआरपी खंडवा ने धारा 384,170,419, 34 का मामला दर्ज कर गिर्ङफतार कर लिया है।