मध्यप्रदेश व राजस्थान वन विभाग की बड़ी कार्रवाई, गुना जिले से तस्करी के जरिए भेजी गई 70 से 80 लाख की सागवान जब्त

राजस्थान में पहुंची गुना वन विभाग की टीम मनोहरथाना क्षेत्र में दी गई दविश

गुना, संदीप दीक्षित। मध्य प्रदेश के गुना (guna) जिले से की जा रही सागवान तस्करी के मामले में वन विभाग ने बड़ी कार्रवाई की है। गुना वन मंडल की संयुक्त टीम ने राजस्थान में स्थित जिले के सीमावर्ती क्षेत्र मनोहर थाना में दविश दी है। यहां संचालित आरा मशीनों से लगभग 3 से 4 हजार नग सागवान लकड़ी जब्त की गई। इनकी अनुमानित कीमत 70 से 80 लाख रुपए आंकी गई है।

यह भी पढ़े…भाजपा नेता पर जानलेवा हमला, बंदूक से किये फायर, मामला दर्ज

इस कार्रवाई वन परिक्षेत्र बीनागंज, वन परिक्षेत्र गुना दक्षिण और वन परिक्षेत्र राघौगढ़ की टीम शामिल हुई। राजस्थान वन महकमे के सहयोग से गुना वन मंडल ने अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई पड़ोसी राज्य में की है। आपको बता दें कि गुना जिले के मधुसूदनगढ़ और बीनागंज परिक्षेत्रों में सागवान तस्कर सक्रिय हैं जो यहां से लकड़ी चुराकर राजस्थान के मनोहर थाना पहुंचकर चोरी की लकड़ी बेच देते हैं।

यह भी पढ़े…पद्म विभूषण पंडित शिवकुमार शर्मा का निधन , शास्त्रीय संगीत जगत में गहरा आघात

मुखबिर से सूचना पक्की होने पर बीनागंज वन विभाग एवं राजस्थान वन विभाग की टीम ने की सामूहिक कार्रवाई करते हुए ग्राम मनोहर थाना राजस्थान में अवैध आरा मशीनों पर मारा छापा 4000 सागवान की सिल्ली बरामद की। जिसकी कीमत ₹80लाख बताई जा रही है। इस पूरी कार्रवाई में वन अमले की 50 से 60 गाड़ियां व 200 जवान मौजूद थे।