लोकायुक्त के हत्थे चढ़ा सहकारिता विभाग का उपायुक्त, 1 लाख की रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार

Co-operative-Deputy-Commissioner-arrested-for-taking-big-bribe-of-Lokayukta-Rs-1-lakh

गुना। मध्यप्रदेश के गुना जिले में सहकारिता विभाग में लोकायुक्त टीम ने छापेमार कार्रवाई की है। टीम ने सहकारिता उपायुक्त  केके द्विवेदी को एक लाख की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार किया है।यह कार्रवाई लोकायुक्त पुलिस ग्वालियर द्वारा की गई है। फरियादी हरिशंकर रघुवंशी सहकारिता विभाग में समिति प्रबंधक है । घटना के बाद से ही विभाग मे हड़कंप मचा हुआ है।

 जानकारी के अनुसार, समर्थन मूल्य पर उड़द ना खरीदने को लेकर समिति प्रबंधक शंकर सिंह रघुवंशी ने सहायक को प्रभार सौंपने के लिए बीते 19 तारीख को पत्र लिखा था। जिसके बाद उप पंजीयक सहकारिता केके द्विवेदी ने संतोष प्रजापति प्रभारी नियुक्त करने के लिए 2 लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी। लेकिन सौदा डेढ़ लाख में तैयार हुआ।लोकायुक्त की टीम ग्वालियर ने इस पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए केके द्विवेदी को रंगे हाथों पकड़ने का जाल बिछाया और जैसे ही सहकारिता उपायुक्त केके द्विवेदी ने पहली किश्त के एक लाख रुपये वैसे ही टीम ने उसे रंगेहाथों दबोच लिया।  गुरुवार को लोकायुक्त टीआई कवींद्र चौहान सहित उनकी टीम ने उप पंजीयक सहकारिता केके द्विवेदी को 1 लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा। समिति प्रबंधक शंकर रघुवंशी बरखेड़ा गिर्द के प्रबंधक हैं।  टीम ने आरोपी उपायुक्त के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। फिलहाल टीम की कार्रवाई जारी है।