Guna : गांव में अवैध रूप से क्लीनिक चलाने वाले झोलाछाप डॉक्टर पर प्रशासन की बड़ी कार्रवाई, पढ़े पूरी खबर

आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए पुलिस प्रतिवेदन भी भेजा जा रहा है।

गुना, संदीप दीक्षित। मध्यप्रदेश के गुना (guna) जिले में झोलाछाप चिकित्सकों के खिलाफ कार्रवाई करने के मामले में मधुसूदनगढ़ स्वास्थ्य महकमा अब तक सर्वाधिक जागरुक देखा गया है। जब भी क्षेत्र में झोलाछाप चिकित्सकों की शिकायत आती है, यहां के बीएमओ और मेडीकल ऑफिसर कार्रवाई कर रहे हैं। हाल ही में क्षेत्र के उकावद गांव में अवैध रूप से क्लीनिक चलाने वाले एक झोलाछाप की दुकान सील की गई है। आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए पुलिस प्रतिवेदन भी भेजा जा रहा है।

Guna : गांव में अवैध रूप से क्लीनिक चलाने वाले झोलाछाप डॉक्टर पर प्रशासन की बड़ी कार्रवाई, पढ़े पूरी खबर

यह भी पढ़े…चोटिल हुआ टीम इंडिया का यह स्टार प्लेयर, इस बड़े टूर्नामेंट से धोना पड़ा हाथ

बता दें कि मधुसूदनगढ़ बीएमओ डॉ. मुकेश शर्मा को मरीजों की ओर से शिकायत मिली थी कि उकावद गांव में डॉ. कश्यप नामक व्यक्ति बड़े स्तर पर अवैध क्लीनिक का संचालन कर रहा है। शिकायत की जांच करने के लिए स्वास्थ्य महकमा मौके पर पहुंचा तो वह दंग रह गए। तथाकथित चिकित्सक कश्यप की क्लीनिक पर भारी मात्रा में सीरींज, इंजेक्शन और सर्जिकलरण उपकरण पाए गए हैं। इसके बाद पूरी क्लीनिक में एलेपैथिक दवाएं भरी हुई थीं।

यह भी पढ़े…बारिश होने पर घर में भी कर सकते है यह 4 व्यायाम

मेडीकल टीम ने झोलाछाप से उनकी डिग्री और पंजीयन मांगे तो वह हक्का-बक्का रह गया। इसके बाद विभाग के दल ने कार्रवाई करते हुए पंचनामा बनाया और अवैध रूप से संचालित क्लीनिक को सील कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम को आशंका है कि बिना डिग्री और बिना प्रशिक्षण ही क्लीनिक चलाने वाला तथाकथित चिकित्सक लोगों के ऑपरेशन भी करता होगा। फिलहाल इस संबंध में जांच की जा रही है और फर्जी क्लीनिक चलाने वाले पर एफआईआर दर्ज करने के लिए मधुसूदनगढ़ पुलिस को प्रतिवेदन भेजा जा रहा है।