गुना- कोर्ट जुर्माने की रसीद में हेरफेर कर वकील ने ही 200 की रसीद को बनाया 20 हजार की

गुना, डेस्क रिपोर्ट। धोखाधड़ी करने वालों ने न्यायपालिका को भी नहीं बख्शा लेकिन कहते है ना कि कानून से कोई बच नहीं सकता तो यह आरोपी भी पकड़े गए, लेकिन हैरानी की बात है कि आरोपी कोई और नहीं बल्कि कानून के जानकार ही निकले, मामला मध्यप्रदेश के गुना में कोर्ट का है, जिसमें एक वकील ने पुरानी रसीद को ओवरराइट कर कोर्ट में दो बार पेश कर दिया। इस दौरान आरोपियों ने 200 रुपए की रसीद को 20 हजार रुपए का बना दिया और जुर्माने के रूप में उसे कोर्ट में दिखा दिया, जबकि पैसे जमा नहीं किए। मामले का खुलासा होने के बाद जज ने थाने को पत्र लिखा।

यह भी पढ़ें… शिवराज सरकार की बड़ी घोषणा, 26 जिलों को मिलेगा लाभ, हितग्राहियों के लिए बढ़ाई गई राशि

इस मामले के सामने आने के बाद जूनियर वकील और एक अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। इस मामलें में कोर्ट ने ही कैंट थाने को पत्र लिखकर मामले में FIR दर्ज करने के निर्देश दिए। अदालत के निर्देश पर थाने में जूनियर वकील दिनेश कुशवाह और आरोपी अनिल ओझा के खिलाफ धोखाधड़ी, दस्तावेजों में कूट रचना करने सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें… MPPSC ने जारी की सूचना, उम्मीदवारी हुई निरस्त, दिशा -निर्देश जारी

इस मामलें में आरोपी वकील ने मारपीट और गाली-गलौज के मामले में आरोपी दलवीर धाकड़ के 200 रुपए के जुर्माना भरा जिसके बदले कोर्ट की रसीद बुक क्रमांक 37 की रसीद क्रमांक-2 जारी की गई। दलवीर धाकड़ की इसी रसीद को  वकील ने एक अन्य पॉक्सो एक्ट मामले में ओवर राइटिंग कर 200 रुपए से 20000 रुपए कर दिया और जेलर को शो कर दी। लेकिन आरोपी की होशियारी यहाँ काम नहीं आई और वो पकड़ा गया।