पुलिसकर्मी बना गुंडा

गुना।बीते महिने एसपी राहुल कुमार लोढ़ा ने विभागीय जांच में दोषी पाए जाने के बाद पुलिस लाइन में पदस्थ प्रधान आरक्षक हरीश राजपूत को नौकरी से बर्खास्त कर दिया था।बर्खास्तगी के बाद हरीश ने एसपी के खिलाफ सोशल मीडिया पर अपशब्द लिखे थे, जिसके बाद बर्खास्त पुलिसकर्मी पूर्व प्रधान आरक्षक हरीश राजपूत का नाम गुंडा सूची में जोड़ दिया गया है।अब पुलिस लगातार हरीश पर निगरानी बनाए हुए है।

आरोप है कि महिलाओं को धमकाने के आरोप में हरीश को बर्खास्त किया गया था।प्रधान आरक्षक हरीश राजपूत विशेष शाखा में पदस्थ थे। इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद एसपी ने सस्पेंड कर दिया था। राजपूत को बहाली के बाद पुलिस लाइन में तैनात किया गया। एसपी राहुल कुमार लोढ़ा ने बताया कि प्रधान आरक्षक ने फरियादिया अजब बाई के शपथ पत्र अपने बचाव में प्रस्तुत किए थे, लेकिन अजब बाई ने लिखित में आवेदन देकर शिकायत कर कहा कि उसे पकड़कर जबरन यह शपथ पत्र बनवाए गए हैं। सीएसपी की जांच रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद प्रधान आरक्षक हरीश राजपूत को बर्खास्त कर दिया है। इसके खिलाफ चार आपराधिक मामले भी दर्ज हैं।फिलहाल पुलिस हरीश पर निगरानी बनाए हुए है।