गुना : दोस्त का गला दबाकर हत्या, फिर शव के टुकड़ों के साथ ट्रेन में यात्रा कर ब्रिज से फेंका

गुना, संदीप दीक्षित। अपने ही दोस्त की हत्या (Murder) कर उसके शव के टुकड़ों को ठिकाने लगाने वाले युवक को पुलिस ने हिरासत में लिया है। आरोपी ने बेहद अनोखे ढंग से अपने ही दोस्त के शव के टुकड़े कर उसके साथ ट्रेन में 26 किमी की यात्रा भी पूरी की। फिर जैसे ही रास्ते में ब्रिज आया तो वहां से शव को नदी में फेंक दिया। हालांकि मामला दशहरे वाले दिन का है। इसी दिन 5 अक्टूबर को आरोन थाना क्षेत्र के गांव क्षेत्रपाल निवासी सुनील अहिरवार लापता हो गया था। इसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई गई थी। तभी से पुलिस खोजबीन में जुटी थी। आरोन थाना प्रभारी आमोद सिंह राठौर को जानकारी लगी तो शक के आधार 15 अक्टूबर को युवक शिवकुमार को उठाया। जब उससे पूछताछ की तो वह पुलिस को उलझाने लगा। हालांकि वह बाद में टूट गया और बोला कि उसी ने दोस्त की हत्या की है।

यह भी पढ़ें…. खंडवा में प्याज की फसलों में लगा जलेबी रोग, क्लीटवेटर चलाकर नष्ट की जा रही उपज

शराब पी थी तभी हुआ विवाद…

आरोपी ने बताया कि शराब पीने के दौरान ही विवाद हुआ था, तभी उसने दोस्त सुनील का गला दबा दिया। अब इतने बड़े शव को ठिकाने कैसे लगाता, यह सोच कर शव के टुकड़े लिए और इन्हें बैग में भरकर बाइक से अशोकनगर पहुंचा। अशोकनगर से ही ट्रेन में सवार हुआ और शव के टुकड़ों के साथ 26 किमी तक की यात्रा की। पीलीघटा पर जैसे ही ट्रेन पहुंची तो ब्रिज से शव को नदी में फेंक दिया। पुलिस संबंधित स्थल पर शव को खोजने पहुंच गई है।
वजह साफ नही, इस पूरे मामले में हत्या क्यों की गई, मूल वजह सामने नहीं आ रही है। हालांकि पुलिस मामले की जांच में जुटी है। जब तक शव नहीं मिलता है। पूरे मामले से पर्दा नहीं उठ पाएगा।