लापरवाही बरतने व दुर्व्यवहार की शिकायतों के बाद बाल विकास अधिकारी निलंबित

गुना, विजय कुमार जोगी। कलेक्‍टर पुरूषोत्‍तम द्वारा पर्यवेक्षक एकीकृत बाल विकास परियोजना आरोन प्रेमलता लोधी को अपने कर्तव्‍यों के निर्वहन में घोर लापरवाही बरतने एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से अभ्रदतापूर्वक व्‍यवहार तथा अवैध रूप से राशि की मांग करने के बाद निलंबित कर दिया गया है।

बता दें कि प्रेमलता लोधी के खिलाफ लगातार शिकायतें आ रही थी। जिसके बाद वर्गीकरण नियंत्रण तथा अपील के तहत उन्हें तत्‍काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। निलंबन अवधि में उनका मुख्‍यालय कार्यालय एकीकृत बाल विकास परियोजना चांचौड़ा जिला गुना नियत किया गया है। निलंबन काल में उन्‍हें नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्‍ते की पात्रता होगी।
बता दें कि कलेक्‍टर पुरूषोत्‍तम द्वारा पर्यवेक्षक एकीकृत बाल विकास परियोजना आरोन  द्वारा अपने पदीय कर्तव्‍यों के निर्वहन में घोर लापरवाही बरतने एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से कार्य के दौरान अभ्रदतापूर्वक व्‍यवहार तथा अवैध रूप से राशि की मांग करने आदि के संबंध में प्राप्‍त शिकायतों की जांच की गई। प्रतिवेदन में उक्‍त शिकायतें सत्‍य पायी गयी हैं। इसके साथ ही उन्‍होंने शिकायत की निष्‍पक्षता की दृष्टि से तहसीलदार आरोन से भी स्‍वतंत्र जांच करायी जिसमें भी शिकायतें सत्‍य पायी गई। इसके बाद उनके निलंबन की कार्रवाई की गई है।