दादी और पोती की हत्या का खुलासा, छोटा बेटा निकला हत्यारा

Revealing-the-murder-of-grandmother-and-granddaughter

गुना|विजय कुमार जोगी| म्याना थाना क्षेत्र में 20 तारीख को हुई दादी और पोती की हत्या के आरोप में घर का ही छोटा लड़का हत्यारोपी निकला है। पुलिस अधीक्षक राहुल कुमार लोढ़ा ने जानकारी देते हुए बताया कि म्याना थाना अंतर्गत नई सराय रोड पर दादी और पोती की हत्या के मामले में मृतका लता उर्फ रूपरानी भदौरिया का छोटा पुत्र दीपक भदौरिया ही हत्यारा निकला। श्री लोढ़ा ने बताया कि घटना काफी गंभीर थी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पीएस बघेल गुना, राजेंद्र रघुवंशी एसडीओपी गुना एवं थाना प्रभारी सौरभ रत्नाकर को खुलासा करने हेतु नियुक्त किया गया था। 

विवेचना के दौरान मुखबिर से सूचना मिली कि दीपक अपने पुराने मकान से नये के बीच काफी  चक्कर लगा रहा था। शक के आधार पर दीपक भदौरिया को थाने लाकर पूछताछ की गई। गंभीर पूछताछ के दौरान दीपक टूट  गया और उसने बताया कि 20 तारीख को मेरी बड़ी भाभी मायके गई थी। पिताजी ट्रक पर गए थे। और मेरे दोनों भाई नौकरी पर बाहर थे। घर पर में मेरी मां मेरी छोटी भाभी व भतीजी थे। करीब 4:30 बजे मैं अपने पुराने घर में भैंसों को चारा डालने गया था। तभी मेरी मां भतीजी को गोद में लेकर पुराने मकान पर आई और कहने लगी कि तूने मामा जी के चना क्यों बेचे हैं और पैसे कहां है। दीपक ने कहा कि मुझे कुछ सामान लाना था मां ने कहा इतना बड़ा हो गया है कि पढ़ाई भी पूरी कर ली और कुछ करता क्यों नहीं है शर्म नहीं आती और मेरे सर पर एक डंडा मार दिया मुझे भी गुस्सा आ गया, मैं भी पास में पड़े लोहे के पाइप से मां के सर पर तीन-चार बार कर दिए जिससे उसकी मृत्यु हो गई और मेरी भतीजी अनामिका भी नीचे गिर गई और जोर-जोर से रोने लगी मैंने उसके गले में करंट का तार लगा दिया और दोनों की हत्या कर दी।


यह है मामला

म्याना थाना क्षेत्र के नई सराय रोड पर निवासरत भदोरिया परिवार के मकान में दादी श्रीमती लता सिंह उम्र 52 साल की सिर में धारदार हथियार से कई बार करके हत्या कर दी गई। दादी की पोती उम्र डेढ़ साल कुमारी अनिका सिंह की शरीर के कई हिस्सों में करंट लगाकर मौत की नींद सुला दि गई। डेढ़ साल की बच्ची के पूरे शरीर में गला, पेट, पैर आदि कई स्थानों पर करंट के निशान शरीर को दिखाई दे रहे है। वहीं दादी के सर में धारदार हथियार के कई बार कर हत्या कर दी गई। दोहरे हत्याकांड छुपाने के लिए आरोपी दोनों शवों  को अस्पताल ले गए। और करंट लगने से मौत की बात कही थी।