लिफ्ट ली फिर पी शराब, उसी ने उतारा मौत के घाट

Guna Youth Murder : जिले के धरनावदा थाना क्षेत्र के गोलाखेड़ी निवासी युवक की हत्या की गुत्थी सुलझ गई है। युवक का शव 8 दिसम्बर को सनोतिया पुलिया के पास मिला था। हत्या की वजह काफी उलझी हुई सामने आई है। हत्या करने वाले आरोपी का मृतक से कोई संबंध नहीं था। एक जगह पीते हुए उसके पहचान हुई, फिर आरोपी ने लिफ्ट दी और मामूली कहा-सुनी पर मफलर से गला दबाकर हत्या कर दी। पुलिस ने कॉल रिकॉर्ड, सीसीटीवी फुटेज खंगाले और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

ऐसा लगा पुलिस को सुराग 
गौरतलब है कि 8 दिसम्बर को धरनावदा थाना अंतर्गत सनोरिया रोड पर पुलिया के नीचे अजय पुत्र अर्जुन सिंह कुशवाह (20) निवासी ग्राम गोलाखेड़ी का शव मिला था। मृतक के गले में एक मफलर कसा हुआ था, जिससे प्रथम दृष्टया लग रहा था कि हत्या गला दबाकर की गई है। जानकारी मिलते ही धरनावदा थाना प्रभारी उप निरीक्षक गोपाल चौबे मौके पर पहुंचे, शव बरामद कर मौका मुआयना किया और मर्ग कायम कर जांच में लिया गया। गुना एसपी पंकज श्रीवास्तव ने अंधे कत्ल की घटना को गंभीरता से लिया ओर वारदात को अंजाम देने वाले अज्ञात आरोपी की पतारसी कर अंधे कत्ल का शीघ्र पर्दाफाश करने के निर्देश दिए। निर्देशानुसार एसडीओपी राघौगढ़ जीडी शर्मा के मार्गदर्शन में धरनावदा ािाना प्रभारी एसआई गोपाल चौबे एवं टीम द्वारा प्रकरण की गहन विवेचना की गई। प्रकरण के चुनौतीपूर्ण होने पर अज्ञात आरोपी की पहचान करने सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए, जिनमें मृतक अजय कुशवाह किसी अज्ञात व्यक्ति के साथ दिखा। सीसीटीवी में नजर आया कि उसके साथ बैठका व्यक्ति गल में मफलर डाले हुआ था। आरोपी की मोटरसाइकिल का नम्बर एमपी 08 जेड-ए 5965 भी दिखाई दे गया। फुटेज में अज्ञात व्यक्ति के गले में दिख रहा मफलर भी वही लग रहा था, जो मृतक के गले में दिखाई दिया।

मोटरसाइकिल के नम्बर से खुला राज
पुलिस को पहला सफलता सीसीटीवी में दिखी बाइक से मिली। वाहन मालिक की जानकारी पता करने पर मोटरसाइकिल मोहनलाल पुत्र लालाराम बंजारा निवासी राधा कॉलोनी गुना के नाम पर पंजीकृत होना पाई गई। पुलिस द्वारा तुरंत उत पते से मोहनलाल बंजारा को हिरासत में लेकर मृतक अजय कुशवाह की हत्या के बारे में पूछताछ की। पहले मोहनलाल ने पुलिस के सामने जानकारी नहीं होने की नाटक किया, लेकिन जब पुलिस ने अपने अंदाज में पूछताछ की तो वह टूट गया। मोहनलाल ने बताया कि 7 दिसम्बर की रात को वह हिलगना कलारी के पास शराब पी रहा था, वहीं पास में मृतक अजय कुशवाह भी शराब पी रहा था, जिसे वह पहले से नहीं जानता था। शराब पीने के दौरान दोनों के बीच बातचीत हुई, जिसमें उसके द्वारा अपने धरनावदा तरफ जाने का कहा तो मृतक अजय ने उससे गोलाखेड़ी तक साथ चलने के लिए बोला। इसके बाद दोनों ने फिर रुठियाई से और शराब लेकर रास्ते में पीना शुरु कर दिया। इस बीच दोनों के बीच विवाद हो गया और इस विवाद में उसने स्वयं के मफलर से मृतक अजय कुशवाह की हत्या कर लाश को धरनावदा-सनोतिया रोड के बीच बनी बड़ी पुलिया के नीचे छिपा दिया। हत्या के मामले में 13 दिसंबर को आरोपी मोहनलाल पुत्र लालाराम बंजारा को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी के कब्जे से मोटरसाइकिल, पिट्टू बैग आदि जब्त कर उसे न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

गुना से संदीप दीक्षित की रिपोर्ट