आदिवासी अग्निकांड : सीएम शिवराज आज जाएंगे गुना, कहा- किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा

सीएम शिवराज ने कहा कि हमनें जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हमने आदिवासी भाई बहनों के लिए कानून बनाया है। जहां साहूकारों द्वारा गलत तरीके से उन्हें दिए कर्ज, अवैध रूप से दिया कर्ज जो सरकार ने माफ करने का प्रावधान किया है।

SHIVRAJ

गुना, डेस्क रिपोर्ट। बीते दिनों मध्य प्रदेश के गुना जिले में एक आदिवासी को 5000 रूपए के लिए जिंदा जला दिया गया था। जिसके बाद आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) गुना (guna) जिले की यात्रा पर रहेंगे। जहां वह पीड़ित परिवार से मुलाकात करेंगे। इसके साथ ही साथ श्योपुर (sheopur) जिले के विकासखंड करहाल में सहरिया समाज के लोगों की जनचौपाल में भाग लेंगे। इससे पहले गुना जिले में आदिवासी युवक विजय सहरिया को अग्निकांड के हवाले करने की घटना पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि विजय सहरिया की मृत्यु की जांच होगी किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।

वहीं विजय सहरिया के मृत्यु को ध्वस्त घटना बताते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं परिवार से मिलने स्वयं जाऊंगा। वही हमारे दलित गरीब कमजोर भाई -बहनों के प्रति कोई अन्याय हम नहीं होने देंगे। सीएम शिवराज ने कहा कि हमनें जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हमने आदिवासी भाई बहनों के लिए कानून बनाया है। जहां साहूकारों द्वारा गलत तरीके से उन्हें दिए कर्ज, अवैध रूप से दिया कर्ज जो सरकार ने माफ करने का प्रावधान किया है। ऐसे कर्जे वसूल नहीं होंगे और इस तरह के प्रयास करने वाले पर कड़ी कार्रवाई करेंगे। इसके साथ ही सीएम शिवराज ने कहा कि आदिवासियों को भी आगे बढ़ाने के लिए, न्याय देने के लिए, गरीब सशक्तिकरण के लिए हर संभव कदम उठाए जाएंगे।

यह भी पढ़े: सीएम के निर्देश पर मिलावटखोरों पर शिकंजा, अब तक 256 के खिलाफ केस

बता दें कि बीते दिनों प्रदेश के गुना जिले से घटना सामने आई थी। एक आदिवासी युवक को 5000 रूपए उधार के लिए जिंदा जला दिया गया था। घटना गुना के बमोरी क्षेत्र के उकावदखुर्द गांव की है। विजय सहरिया नामक युवक ने राधेश्याम से 5000 रूपए उधार लिए थे। जिसके बाद 3 साल से लगातार राधेश्याम इसके बदले आदिवासी विजय सहरिया से अपने खेतों में जबरदस्ती काम भी करवा रहे थे। शुक्रवार को रात 9:00 बजे राधेश्याम ने विजय सहरिया को कृष्ण मंदिर के पास बुलाया। जहां उसने अपने बकाया रुपए की मांग की रुपए को लेकर दोनों के बीच वाद-विवाद बढ़ गया और इसके बाद राधेश्याम ने गांव के बीचो-बीच विजय सहारिया को केरोसिन डालकर जिंदा जला दिया। घटना के बाद आदिवासी समाज में आक्रोश है। वहीं पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here