ग्वालियर उपचुनाव : 1200 जवानों की तैनाती, अफसरों की निगरानी में होगी काउंटिंग

जिले की तीन विधानसभा सीटों के लिए हुए उप चुनाव की मतगणना के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए हैं पुलिस प्रशासन ने तीन स्तरीय सुरक्षा लगाई है जिसके तहत CRPF, SAF और पुलिस के लगभग 1200 जवान व अफसर सुरक्षा की कमान संभालेंगे।

POLICE

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। ग्वालियर (Gwalior) जिले की तीन विधानसभा सीटों के लिए 3 नवंबर को हुई वोटिंग (voting) की कॉउंटिंग(counting) मंगलवार 10 नवंबर को होगी कॉउंटिंग के लिए जिला प्रशासन ने पूरी व्यवस्था कर ली है। वहीं पुलिस प्रशासन ने भी यातायात व्यवस्था को चाक चौबंद किया है। मतगणना वाले दिन अलेश्वर रोड और थीम रोड पर यातायात प्रतिबंधित रहेगा। मतगणना के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए हैं पुलिस प्रशासन ने तीन स्तरीय सुरक्षा लगाई है जिसके तहत CRPF, SAF और पुलिस के लगभग 1200 जवान व अफसर सुरक्षा की कमान संभालेंगे।

भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) द्वारा निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 10 नवम्बर को प्रात: 8 बजे से ग्वालियर जिले की तीनों विधानसभा में 3 नवंबर को डाले गए वोटों की गिनती शुरू होगी। सबसे पहले डाक मत पत्रों एवं सेवा मतदाताओं द्वारा भेजे गए मतों की गिनती शुरू होगी। इसके आधा घंटे बाद ईवीएम (EVM) के वोटों की गिनती शुरू की जायेगी। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित की गई व्यवस्था के तहत हर गणना टेबल पर एक – एक गणना पर्यवेक्षक, गणना सहायक व माइक्रो ऑब्जर्वर तैनात रहेंगे। इस प्रकार एक टेबल पर तीन अधिकारी तैनात किए जायेंगे।

गणना पर्यवेक्षक सीधे निर्वाचन प्रेक्षक को अपनी रिपोर्ट देंगे। जिले के हर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र की गिनती दो – दो कक्षों में होगी। हर कक्ष में सात – सात टेबल लगाई जायेंगीं। इस प्रकार एक राउण्ड में 14 टेबलों पर मतगणना होगी। इसके अलावा हर विधानसभा क्षेत्र के एक कक्ष में डाक मत पत्रों की गिनती के लिये डाक मत पत्रों की संख्या के आधार पर अलग से टेबल लगाई जायेंगीं। हर कक्ष में सहायक‍ रिटर्निंग अधिकारी की टेबल अलग से लगेगी।

1200 जवान रहेंगे तैनात

वहीं जिले की तीन विधानसभा सीटों के लिए हुए उप चुनाव की मतगणना के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए हैं पुलिस प्रशासन ने तीन स्तरीय सुरक्षा लगाई है जिसके तहत CRPF, SAF और पुलिस के लगभग 1200 जवान व अफसर सुरक्षा की कमान संभालेंगे। मतगणना स्थल पर सबसे आगे CRPF के एक सैकड़ा जवान और अफसर होंगे। दूसरे स्तर पर SAF के 200 जवान मोर्चा संभालेंगे। आखिरी और तीसरे स्तर पर पुलिस 900 के लगभग जवान-अफसर तैनात रहेंगे।

आवागमन पूरी तरह से प्रतिबंधित

मतगणना स्थल पर किसी को आने जाने की इजाजत नहीं होगी। मंगलवार को थीम रोड और अचलेश्वर रोड पर आम लोगों के आवागमन के लिए पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बिना आईडी अफसर भी मतगणना स्थल पर प्रवेश नहीं कर सकेंगे। एसपी ग्वालियर अमित सांघी ने रविवार को भी मतगणना स्थल पर सुरक्षा का जायजा लिया है। साथ ही ट्रैफिक पर भी अफसराें से चर्चा की है। उन्होंने बताया कि पुलिस (Police) इस दौरान पूरे शहर में अलर्ट मोड पर रहेगी। एसपी के मुताबिक मतगणना स्थल के साथ-साथ जीत हार के नतीजों से शहर में कहीं कानून व्यवस्था न बिगड़े इसके लिए पुलिस पूरे शहर में विशेषकर उन विधानसभा क्षेत्रों में जहां उपचुनाव हुए वहाँ विशेष निगरानी की जायेगी और सुरक्षा बढ़ाई जायेगी। इसके अलावा पुलिस के फिक्स पैकेट लगाकर चैकिंग की जायेगी और मोबाइल वैन की जरिये भी निगरानी रखी जायेगी।

MP Breaking News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here