हरियाणा में फंसे 1350 श्रमिक पहुंचे ग्वालियर, 46 बसों से संबंधित जिलों के लिये रवाना

ग्वालियर ।अतुल सक्सेना|  लॉक डाउन (Lockdown)के चलते हरियाणा (Haryana) में फंसे प्रदेश के विभिन्न जिलों के श्रमिकों (workers) को विशेष बसों के द्वारा मंगलवार को ग्वालियर (Gwalior) लाया गया। जहां उनकी स्क्रीनिंग एवं स्वास्थ्य परीक्षण कर संबंधित जिलों के लिये रवाना का दिया गया । श्रमिकों को जिन बसों में बैठाकर भेजा गया उसमें भोजन, पानी की व्यवस्था की गई।

ग्वालियर कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह (Gwalior Collector Kaushalendra Vikram Singh) ने मालवा कॉलेज परिसर पहुंचकर हरियाणा से आए श्रमिकों के लिये की गई व्यवस्थाओं का अवलोकन किया। इसके साथ ही प्रदेश के अन्य शहरों में श्रमिकों को बसों के माध्यम से भेजे जाने के लिये की गई व्यवस्थाओं को देखा । कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि हरियाणा से आए श्रमिकों को सकुशल उनके गृह नगर भेजने के लिये बसों में भोजन, पानी की व्यवस्थायें चाक-चौबंद की जाए। इसके साथ ही चिकित्सकों को भी निर्देशित किया कि प्रत्येक श्रमिक की चिकित्सीय जांच आवश्यक रूप से की जाए। कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण हरियाणा के विभिन्न स्थानों पर फंसे 1350 श्रमिकों का हरियाणा राज्य परिवहन निगम की विशेष 44 बसों द्वारा लेकर झांसी रोड स्थित मालवा कॉलेज परिसर में प्रात: 11 बजे से आना शुरू हो गया था। जहां जिला प्रशासन के अधिकारियों की उपस्थिति में बसों से आने वाले श्रमिकों का चिकित्सकों के दल द्वारा स्क्रीनिंग कर एवं स्वास्थ्य परीक्षण कर प्रदेश के विभिन्न जिलों के रहने वाले श्रमिकों को संबंधित जिलों की बसों को सेनेटाइज कर बैठाकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भोजन एवं पानी के साथ रवाना किया गया। विभिन्न जिलों को जाने वाले श्रमिकों के लिये राज्य शासन द्वारा 46 बसों की व्यवस्था की गई थी।

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह एवं पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने मालवा कॉलेज पहुँचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया एवं श्रमिकों से चर्चा कर जानकारी ली। उन्होंने मजदूरों को समझाइश दी कि 14 दिनों तक अपने घरों में क्वारंटाइन में रहें। घरों से बाहर न निकलें। मध्यप्रदेश के अनेक जिलों के मजदूर हरियाणा राज्य में रहकर मजदूरी कर रहे थे। लेकिन कोरोना वायरस के कारण लागू लॉक डाउन के कारण फँस जाने से अपने गृह प्रदेश नहीं आ पा रहे थे। ऐसे में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हरियाणा के मुख्यमंत्री से चर्चा कर वहां फँसे मजदूरों को प्रदेश में लाने हेतु बसों की व्यवस्था की गई।

हरियाणा से छतरपुर, टीकमगढ़, पन्ना, दमोह, निवाडी, सागर, उज्जैन, भोपाल, सतना, कटनी, ग्वालियर, मुरैना आदि स्थानों के श्रमिक फंसे थे जिन्हें विशेष बसों द्वारा ग्वालियर लाकर उनके जिलों के लिए रवाना किया गया। रवाना होने से पहले श्रमिकों ने जिला प्रशासन सहित मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का आभार भी जताया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here