ग्वालियर । जल कर वसूली एवं नवीन नल कनेक्शन के काम की समीक्षा के दौरान लापरवाही मिलने पर निगम आयुक्त कड़ी कार्रवाई की है। आयुक्त ने बैठक के दौरान ही 4 कर्मचारियों को निलंबित  करने के आदेश दिए इसके अलावा में दस अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। 

बाल भवन में आज नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन ने जल कर वसूली और नवीन नल कनेक्शन की सही स्थिति जानने के लिए समीक्षा बैठक बुलाई। उन्होंने कहा कि इसमें सभी लोग तेजी लाएं और हर हाल में जलकर वसूली का लक्ष्य पूरा करें। जिसमें 1 जनवरी तक जलकर वसूली 11 करोड़ रुपए हो जानी चाहिए।  बैठक में कार्यपालन यंत्री बीएल छारी, जागेश श्रीवास्तव सहित समस्त पांचों उपखंड के सहायक उपयंत्री उपस्थित हुए।  पूर्व में दिए गए राजस्व वसूली लक्ष्य एवं नवीन नल कनेक्शन के क्रम में जल प्रदाय उपखंड द्वारा 20 से 25 दिसम्बर  तक की गई राजस्व वसूली की समीक्षा की गई।  समीक्षा बैठक में उपयंत्री एवं सहायक यंत्री द्वारा अवगत कराया गया कि उनके क्षेत्र अंतर्गत वार्ड में कई जगह बिल कलेक्टर बिल, बिल वितरक उपस्थित नहीं हो रहे हैं। इससे जलकर वसूली लक्ष्य की प्राप्ति नहीं हो रही एवं नवीन जल कनेक्शन भी नहीं हो पा रहे। इसको लेकर नगर निगम आयुक्त श्री माकिन ने बिल वितरक ओमप्रकाश दुबे, बिल क्लर्क संतोष श्रीवास्तव, मीटर रीडर लक्ष्यप्रकाश शर्मा,बिल वितरक राकेश राठौर की लापरवाही पाए जाने पर इस सभी को निलंबित कर दिया गया है। वहीं कम राजस्व वसूली एवं लक्ष्य अनुसार नल कनेक्शन नहीं करने पर उपयंत्री रजनीश गुप्ता, राजेश श्रीवास्तव,  अरविंद शर्मा,  सतेन्द्र सिंह सोलंकी, कमलेश जादौन,  राजेश रत्नाकर, हरविलास माहौर एवं  डीएस भदौरिया  को कारण बताओ नोटिस  जारी किया गया। इसी प्रकार सहायक यंत्री केसी अग्रवाल एवं प्रवीण दीक्षित को भी कारण बताओ नोटिस जारी किया गया।