अमेरिकन कंपनी का एजेंट बताकर कर रहे थे ठगी, लड़की सहित 7 आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने फर्जी कॉल सेंटर पर काम करने वाले 06 लड़कों एवं 01 लड़की के खिलाफ क्राइम ब्रांच थाने में मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। 

ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  ग्वालियर पुलिस (Gwalior Police) ने एक ऐसे फर्जी अंतरराष्ट्रीय कॉल सेंटर (fake international call center) का पर्दाफाश किया है जो अमेरिका की एक कंपनी का एजेंट बनकर लोगों से लोन दिलाने के नाम पर बात करते थे और उनसे कमीशन के रूप में पैसे ठगते थे, खास बात ये है कि ये ठगी कैश में नहीं गिफ्ट वाउचर के रूप में होती थी, जिसे बाद में कैश में वैवर्त करा लिया जाता था, पुलिस ने कॉल सेंटर से एक लड़की और 6 लड़के गिरफ्तार किये हैं जिनके पास से लैपटॉप, मोबाइल फोन, विदेशी कस्टमर की डिटेल, रजिस्टर आदि मिले हैं।

एडिशनल एसपी क्राइम राजेश दंडोतिया ने मीडिया को बताया कि एसएसपी अमित सांघी को सूचना मिली तह िकि शहर में बहोड़ापुर क्षेत्र में एक फर्जी अंतरराष्ट्रीय कॉल सेंटर चलाया जा रहा है। सूचना की तस्दीक के लिए मुखबिर लगाए गये और सूचना सही पाए जाने पर उन्हें कार्यवाही के लिए निर्देश दिए गए।

ये भी पढ़ें – CBSE : 10वीं-12वीं परीक्षा पर बड़ी अपडेट, सैंपल पेपर-मार्किंग स्कीम जारी, जल्द जारी होंगे एडमिट कार्ड

एसएसपी अमित सांघी का निर्देश मिलने के बाद डीएसपी क्राइम रत्नेश तोमर, नागेंद्र सिंह सिकरवार के साथ क्राइम ब्रांच थाना प्रभारी इंस्पेक्टर दामोदर गुप्ता को मुखबिर के बताये स्थान आनंद नगर मकान नंबर A -05 पर भेजा, पुलिस जब वहां पहुंची तो मकान के बाहर खड़ा एक लड़का पुलिस को देखकर भाग खड़ा हुआ, पुलिस ने जब अंदर जाकर देखा तो कॉल सेंटर चलता मिला।

ये भी पढ़ें – BEL Recruitment 2022 : अलग अलग पदों पर निकली वेकैंसी, जाने सैलरी, योग्यता

पुलिस को कॉल सेंटर में मौजूद एक लड़की और 6 लड़के लेपटॉप के जरिये कुछ लोगों से बात करते दिखाई दिए। पुलिस ने जब सभी को हिरासत में लिया और अलग अलग बात की तो पुलिस उनकी बात सुनकर चौंक गई। लड़की और लड़कों ने पुलिस को बताया कि इस कॉल सेंटर का संचालन अहमदाबाद (गुजरात) निवासी एक व्यक्ति द्वारा अपने सहायक के साथ मिलकर किया जाता है उनके द्वारा ही इस मकान को कॉल सेंटर के संचालन हेतु किराये पर लिया गया है।

ये भी पढ़ें – व्हिसल ब्लोअर डॉ. आनंद राय को 50 हजार के मुचलके पर जमानत

पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वे सभी लोग जूम एप के माध्यम से स्वंय को ‘‘लेंडिग क्लब अमेरिकन कंपनी’’ (Lending Club American Company) का एजेंट बताकर विदेशी ग्राहको से बात किया करते थे। पकड़े गये लोगों ने बताया कि कॉल सेंटर संचालकों द्वारा ही हम सभी को विदेशी लोगों के कॉन्टेक्ट नंबर प्रदाय किये जाते थे। हम लोग विदेशी लोगों से उनको लोन दिलवाने का झांसा देकर उनका सिक्योरिटी नंबर व बैंक संबंधी जानकारी प्राप्त कर लेते थे और उसको वेरिफाई करने के नाम पर उनसे कमीशन के रूप में इंटरनेशनल गिफ्ट वाउचर(जैसे गूगल प्ले कार्ड, अमेरिकन एक्सप्रेस, बेस्ट बाई, एप्पल, बनीला, बीजा आदि) ले लिया करते थे।  उक्त गिफ्ट वाउचर्स को हमारे मालिकों द्वारा केश/शॉपिंग में परिवर्तित कर लिया जाता है।

आरोपियों ने बताया कि हम लोग नाम बदलकर इन विदेशी नागरिकों से कॉल पर बात किया करते थे। पुलिस ने फर्जी कॉल सेंटर पर काम करने वाले 06 लड़कों एवं 01 लड़की के खिलाफ क्राइम ब्रांच थाने में मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया।  कॉल सेंटर की तलाशी लेने पर पुलिस टीम द्वारा 09 लेपटॉप, 07 हेडफोन, 12 मोबाइल फोन, चार्जर, 01 इंटरनेट राउटर, अमेरिकन नागरिकों से ठगी हेतु बात करने की स्क्रिप्ट (अंग्रेजी में), विदेशी कस्टमर्स की डिटेल्स, रजिस्टर व अन्य दस्तावेज आदि जब्त  किये गये। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।