दिवंगत भाजपा नेता के बेटे, बहू और पौत्री सहित 8 पर धोखाधड़ी का केस दर्ज

ग्वालियर। 

भाजपा के पूर्व वरिष्ठ भाजपा नेता स्वर्गीय सरदार संभाजीराव आंग्रे के बेटे,बहू,पौत्री सहित 8 लोगों के खिलाफ विश्वविद्यालय थाना पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।  मामला बिना शादी के फर्जी मैरिज सर्टिफिकेट बनवाने से जुड़ा है। 

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार इंदाैर निवासी अर्जुन काक ने शिकायत में कहा है कि ग्वालियर के लाला का बाजार में रहने वाले सरदार आंग्रे के बेटे  तुलाजीराव आंग्रे की बेटी कात्यायनी की शादी मार्च 2018 में उनके साथ तय हुई थी। बातचीत तय होने के बाद कात्यायनी के पिता इंदौर पहुंचे  उन्होंने बताया कि कात्यायनी की कुडंली में मंगलदोष है इसलिए दोष निवारण पूजा होना जरूरी है। पहले पूजा इंदौर में होना तय हुई लेकिन  तुलाजी आंगे के गुरु पंडित अनिल आठले ने मंगलदोष की पूजा ऋषिकेश में कराने को कहा। इस पर दोनों परिवार 17 अप्रैल 2018 को ऋषिकेश पहुंचे और वहां डिवाइन रिसाेर्ट में ठहरे। 20 अप्रैल तक वहां पर रह कर पूजा-अर्चना की। पूजा के बाद वहां पर सगाई का कार्यक्रम हुआ था और उसी को सांकेतिक विवाह घोषित कर दिया। इसके बाद तुलाजीराव ग्वालियर आये और बिना शादी के ही फर्जी तरीके से शादी का पंजीयन करा लिया। अर्जुन व उनके परिवार ने मामले की पड़ताल की तो पता चला कि सगाई की रस्म काे ही शादी बताकर ग्वालियर में फर्जी तरीके से शादी का पंजीयन 18 अप्रैल 2018 को कराया गया है। जबकि वे ताे इस तारीख काे ऋषिकेश में थे और मंगलदोष निवारण पूजा करा रहे थे। इस सबकी जानकारी हाेते अर्जुन ग्वालियर आए और पुलिस अफसरों से शिकायत कर विश्वविद्यालय थाना पुलिस में आंग्रे परिवार के खिलाफ केस दर्ज कराया। विश्वविद्यालय थाना पुलिस ने सरदार आंग्रे की पौत्री कात्यायनी आंग्रे, तुलाजीराव आंग्रे उनकी पत्नी शांभवी आंग्रे, गुरु पंडित अनिल आठले, श्वेता वी काकडे, प्रताप राव घोरपडे, चित्रलेखा आंग्रे और रमेशचंद्र आंग्रे के खिलाफ धोखाधड़ी सहित विभिन्न धाराआें के तहत मामला दर्ज किया है। । रिपोर्ट  में अर्जुन ने बताया कि वो आैर उनके माता-पिता शैक्षणिक संस्थान का संचालन करते हैं।  उनकी मां, इंदौर के होलकर  राजघराने से हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here