ग्वालियर में भी दो निगमों की मांग, कांग्रेस पार्षद ने सीएम और सिंधिया को लिखा पत्र

ग्वालियर। भोपाल नागर निगम को दो हिस्सों में बांटे जाने की कोशिशों के बीच इंदौर और जबलपुर नगर निगमों के बंटवारे की मांग उठने के बाद अब ग्वालियर से भी बंटवारे की मांग उठ रही है। ग्वालियर में कांग्रेस पार्षद एवं नगर निगम में उप नेता प्रतिपक्ष ने मुख्यमंत्री कमलनाथ और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया को पत्र लिखकर ये मांग की है।

भोपाल को दो नगर निगमों को बांटने की ख़बरों के बीच तेज हुई सियासी हलचल को जबलपुर सांसद के ट्वीट ने और हवा दे दी। जबलपुर सांसद विवेक तन्खा ने ट्वीट कर कहा कि भोपाल में ही दो दो महापौर क्यों जबलपुर और इंदौर में क्यों नहीं? इस मांग के बाद अब ग्वालियर से भी दो दो नगर निगमों की मांग उठी है। कांग्रेस पार्षद एवं ग्वालियर नगर निगम के उपनेता प्रतिपक्ष चतुर्भुज धनोलिया ने मुख्यमंत्री कमलनाथ और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया को पत्र लिखकर ये मांग की है। धनोलिया ने पत्र में कहा कि भोपाल, जबलपुर और इंदौर के साथ साथ ग्वालियर को भी दो नगर निगमों में बांट दिया जाए। जिससे। शहरवासियों को पर्याप्त बुनियादी सुविधाएं मिल सकें। उन्होंने तर्क दिया कि वर्तमान नगर निगम में 66 वार्ड है और शहर की आबादी लगातार बढ़ रही है ऐसे में मौजूदा नगर निगम व्यवस्थाओं को संभालने में नाकाम साबित हुई है । उधर जबलपुर सांसद विवेक तन्खा की मांग का असर हुआ और नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह ने कहा कि हमें जबलपुर और इंदौर में दो दो नगर निगम बनवाने के लिए पत्र मिला है । हमने दोनों जगह के कलेक्टरों को पत्र लिखकर जानकारी मांगी है । यहाँ के सांसद,विधायकों से चर्चा के बाद आगे का फैसला होगा। अब देखना ये होगा कि ग्वालियर से गए पत्र को मुख्यमंत्री कितनी तबज्जो देते हैं।