अभा जनवादी महिला समिति ने सौंपा राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन, 17 सूत्रीय मांगें शामिल

ग्वालियर। अतुल सक्सेना| कोरोना महामारी के चलते देशभर में जारी लॉक डाउन के कारण आम जनता , मजदूर, किसान, महिलाएं, छात्र आदि बहुत परेशान हैं। इन्हीं लोगों की परेशानी को देखते हैं अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति ने कलेक्टर को राष्ट्रपति के नाम 17 सूत्रीय ज्ञापन सौंपा।

अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति ने अपने ज्ञापन में कहा कि एक तरफ मजदूर बड़ी संख्या में भूख के कारण पलायन कर रहे हैं वहीं दूसरी तरफ शहर की गरीब जनता तक भी पर्याप्त राशन नहीं पहुंच रहा है जो छात्र पढ़ाई के कारण हॉस्टल एवं किराए से रह रहे हैं उनके सामने भी भोजन की बहुत बड़ी समस्या है ट्रांसपोर्ट बंद होने के कारण ना तो वह अपने घर जा सकते हैं ना ही उनके पास इतने पैसे हैं कि वह राशन व अन्य जीवन उपयोगी वस्तुएं खरीद पाए इसके अलावा महिलाओं पर भी शोषण की घटनाएं इस लॉक डाउन में बढ़ी है हम देखते हैं कि सीएए, एनआरसी, एनपीआर को लेकर जो महिलाएं आंदोलन कर रही थी उनकी गिरफ्तारी की लगातार खबरें आ रही हैं लॉक डाउन में आंदोलनकारियों को इस प्रकार गिरफ्तार कर प्रताड़ित करना निंदनीय है । एडवा के राष्ट्रीय आह्वान पर ऐसे तमाम सवालों को लेकर आज अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति ग्वालियर इकाई द्वारा मोहल्ले,बस्ती में लॉक डाउन के नियमों का पालन करते हुए प्रदर्शन कर 17 सूत्रीय मांगों के साथ जिलाधीश को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन देने वालों में संगठन की जिलासचिव प्रीति सिंह,जिला अध्यक्ष रीना शाक्य,जिला समिति सदस्या कांता राजौरीया ,सुनीता गौतम शामिल थी।

अभा जनवादी महिला समिति ने सौंपा राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन, 17 सूत्रीय मांगें शामिल