कोरोना पॉजिटिव हत्या का आरोपी अस्पताल से फरार, मृतक के परिजनों ने जताया जान का खतरा, SP से मिले

मृतक इंजीनियर के परिजन आरोपी के भाग जाने के बाद से भयभीत हैं उन्होंने फरार आरोपी वीरेंद्र परिहार से जान का खतरा बताया है

ग्वालियर, अतुल सक्सेना| जयारोग्य अस्पताल समूह के सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती कोरोना पॉजिटिव हत्या का आरोपी पुलिस की कड़ी सुरक्षा को चकमा देकर भाग गया। पुलिस ने उसकी तलाश में कई पार्टियां लगा दी हैं लेकिन 12 घंटे से अधिक बीत जाने के बाद भी पुलिस उसका कोई सुराग नहीं लगा सकी है। उधर मृतक इंजीनियर के परिजन आरोपी के भाग जाने के बाद से भयभीत हैं उन्होंने फरार आरोपी वीरेंद्र परिहार से जान का खतरा बताया है। परिजनों ने एसपी से मिलकर शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की है।

ग्वालियर थाना क्षेत्र के सागर ताल क्षेत्र में रहने वाले वीरेन्द्र परिहार ने अपनी प्रेमिका और उसके भाई के साथ मिलकर इंजीनियर सचिन शाक्य की हत्या कर दी थी। हत्या के बाद पुलिस ने 16 अक्टूबर को वीरेंद्र को गिरफ्तार किया था, वीरेन्द्र ने कुबूल किया था कि उसने अपनी प्रेमिका और प्रेमिका के भाई के साथ मिलकर सचिन की हत्या की थी। पकड़े जाने के बाद वीरेन्द्र परिवार को जेल भेजने से पहले पुलिस ने उसका कोरोना टेस्ट कराया था। जिसमें वह संक्रमित निकला था। जिसके बाद उसे जेएएच के सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। आरोपी वीरेंद्र की सुरक्षा के लिए 6 पुलिस जवान राउंड द क्लॉक 8-8 घंटे ड्यूटी पर लगाए गए थे। शनिवार रात को वहां आरक्षक नरेश शाक्य व हितेन्द्र निगरानी की ड्यूटी थी । चूंकि कोरोना वार्ड में गार्ड अंदर नहीं रह सकते इसलिए वे बाहर ही तैनात थे। देर रात ड्यूटी पर तैनात दोनों आरक्षक वार्ड के बाहर सो गए । बताया जाता है कि इसी बीच करीब चार बजे वीरेन्द्र चकमा देकर अस्पताल से निकल गया।

घटना का पता सुबह तब लगा जब अस्पताल स्टाफ ने मरीज को बेड पर नहीं देखा। हत्या के आरोपी के फरार होने के बाद अस्पताल में गहमा गहमी हो गई तत्काल पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दी गई और आरोपी की तलाश के लिये पुलिस पार्टियां रवाना की गई लेकिन 12 घंटे बीत जाने के बाद भी अब तक फरार आरोपी का कोई सुराग नहीं है। पुलिस ने सागर ताल के पास सरकारी मल्टी स्थित आरोपी के घर, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड सहित अन्य संभावित जगह दबिश दी लेकिन फरार कोरोना पॉजिटिव हत्या के आरोपी वीरेंद्र परिहार का कोई पता नहीं चल सका है।

उधर आरोपी के फरार हो जाने के बाद मृतक इंजीनियर सचिन के परिजन भयभीत हैं उन्हें जान का खतरा है। परिजनों ने पुकीस अधीक्षक अमित सांघी से मुलाकात कर आरोपी को जल्दी गिरफ्तार करने की मांग की है। एसपी का कहना है कि फरार आरोपी की तलाश की जा रही है हमने पुलिस पार्टियां लगा दी हैं उम्मीद है कि वीरेंद्र परिहार जल्दी गिरफ्तार हो जायेगा। उन्होंने कहा कि अस्पताल की भी प्राइवेट सुरक्षा थी और पुलिस की भी सुरक्षा थी लेकिन दोनों वार्ड के बाहर होने का फायदा उठाकर आरोपी भाग जाने में सफल हो गया। उन्होंने कहा कि मैंने सीएसपी से रिपोर्ट मांगी है जिसकी लापरवाही है उसके खिलाफ दंडात्मक कार्र वाई की जायेगी।