NSUI प्रदेश महासचिव पर बॉन्ड ओवर उल्लंघन की कार्रवाई, जेल भेजा, छात्र नेताओं का हंगामा

ग्वालियर । जीवाजी विश्वविद्यालय में देर शाम आंदोलन करने गए एनएसयूआई के प्रदेश महासचिव सहित छह कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया । छात्रों को हिरासत में लेते ही छात्र नेताओं ने हंगामा कर दिया। पहले छात्रों ने पुलिस थाने पर हंगामा किया फिर कलेक्ट्रेट में हंगामा किया। लेकिन पुलिस ने प्रदेश महासचिव पर बॉन्ड ओवर की कार्रवाई कर SDM न्यायालय में पेश किया और उसे जेल भेज दिया।

गौरतलब है कि NSUI के प्रदेश महासचिव सचिन द्विवेदी शुक्रवार शाम अपने साथियों के साथ जीवाजी विश्व विद्यालय में आंदोलन करने गए थे। यहां उन्होंने कुलसचिव को ज्ञापन सौंपा। इसी दौरान उनकी वहां बहस हो गई। इसी बीच विश्व विद्यालय प्रशासन ने पुलिस को बुला लिया । पुलिस ने आते ही सचिन द्विवेदी सहित छह पदाधिकारियों को हिरासत में ले लिया और विश्व विद्यालय थाने ले गई। अपने पदाधिकारियों पर कार्रवाई की खबर लगते ही छात्र नेताओं ने विश्व विद्यालय थाने पर हंगामा कर दिया। हंगामा की सूचना मिलते ही ADM किशोर कान्याल सहित अन्य पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी वहां पहुंच गए। हंगामा बढ़ता देख पुलिस सभी को लेकर कलेक्ट्रेट पहुंची। यहां पुलिस ने SDM अनिल बनवारिया के न्यायालय में सचिन द्विवेदी को पेश किया । पुलिस का कहना था कि सचिन पर बॉन्ड ओवर उल्लंघन की कार्रवाई की गई है । इसलिए उसे गिरफ्तार किया गया है। बाकी पांच पदाधिकारियों पर कोई शिकायत नहीं है इसलिए उन्हें पुलिस ने उन्हें छोड़ दिया। उधर NSUI प्रदेश महासचिव सचिन द्विवेदी का कहना है कि विश्वविद्यालय की कुलपति के इशारे पर पुलिस ने उनके खिलाफ गिरफ्तारी कार्रवाई की है। जबकि वे शांति पूर्ण आंदोलन कर रहे थे। हालांकि विश्व विद्यालय थाने टी आई राम नरेश यादव का कहना है कि हमें आज विश्व विद्यालय प्रशासन कोई शिकायत नहीं की । सचिन के खिलाफ बॉन्ड ओवर उल्लंघन का मामला बनता है इसलिए उसे गिरफ्तार कार जेल भेजा है। बहरहाल सचिन पर कार्रवाई के बाद NSUI कार्यकर्ताओं में आक्रोश है । देखना होगा कि सुबह होने के बाद कार्यकर्ता रिएक्शन देते हैं