शिवराज के मंत्री का एक्शन, स्वीकृत कार्य शुरू करने में देरी करने वाले ठेकदारों पर FIR

बैठक में मौजूद नगर निगम आयुक् किशोर कान्याल ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि टीम के जो सदस्य अभियान के तहत घर-घर नहीं पहुँच रहे हैं उनके खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की जाए।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। विकास कार्यों को लेकर सीएम शिवराज और उनके मंत्री (Shivraj’s minister) सख्त मूड में हैं। प्रदेश के उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह ने विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए देरी पर अधिकारियों से नाराजगी जताई। मंत्री की नाराजगी के बाद  नगर निगम कमिश्नर किशोर कान्याल ने ऐसे ठेकेदारों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए।

मप्र के उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह (Minister of State Bharat Singh Kushwaha) ने आज ग्वालियर नगर निगम (Gwalior Municipal Corporation) के वार्ड 61 से 66 में स्थित बस्तियों में मंजूर हुए विकास कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जिन विकास कार्यों की मंजूरी मिल चुकी है, उनका जल्द से जल्द भूमिपूजन कराकर कार्यों को धरातल पर लाएँ, जिससे सरकार की मंशा के अनुरूप क्षेत्रीय निवासियों को इन कार्यों का लाभ मिल सके। बैठक में इन वार्डों के लिये बड़े-बड़े विकास कार्यों की स्वीकृति और इन कार्यों के भूमिपूजन की तिथियाँ भी तय हुईं।

ठेकदारों पर FIR के निर्देश

राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह ने टेण्डर होने के बाबजूद इन वार्डों में लम्बे समय से कुछ विकास कार्य शुरू नहीं  होने पर नाराजगी जताई। मंत्री की नाराजगी के बाद बैठक में मौजूद नगर निगम कमिश्नर किशोर कान्याल ने ऐसे ठेकेदारों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। साथ ही कहा कि जिन कार्यों के टेण्डर हो चुके हैं, उन्हें जल्द से जल्द शुरू कराएँ। उन्होंने साफ किया कि कार्य शुरू होने में देरी होने पर संबंधित अधिकारी भी जवाबदेह होंगे।

ये भी पढ़ें – Noida: नशे में धुत लड़कियों ने किया हाई वोल्टेज ड्रामा, गार्ड के साथ की बदसलूकी

भूमिपूजन की तिथियाँ निर्धारित

गौरतलब है कि जिन कार्यों के भूमिपूजन की तिथियाँ निर्धारित हुई हैं, उनमें लगभग एक करोड़ 90 लाख रूपए की लागत की सात नम्बर चौराहे से छावनी क्षेत्र की बस्तियों में पेयजल के लिए डलने वाली 14 इंची पाइप लाइन, लगभग एक करोड़ 22 लाख रूपए लागत की पटेल नगर से एमएच चौराहे तक की बस्तियों में पेयजल पाइप लाईन, शहर के वार्ड-61 व 62 में स्थित शंकरपुरी, बैंक कॉलोनी, बालाजीपुरम, कृष्णा विहार, गुलाबपुरी, सांई नगर चौराहा, बीपी सिटी व खेरियामोदी सहित क्षेत्र की अन्य अवैध कॉलोनियों में विशेष निधि से लगभग 3 करोड़ 94 लाख रूपए की लागत से होने वाले विद्युतीकरण कार्य, वीरपुर की पेयजल लाईन, गिरवाई से अजयपुर क्षेत्र की पेयजल लाईन, विभिन्न वार्डों के संजीवनी क्लीनिक सहित अन्य विकास कार्य शामिल हैं।

ये भी पढ़ें – MP School : शिवराज सरकार का बड़ा फैसला, अब स्कूलों में लगेगी ई-अटेंडेंस, आदेश जारी

 कर्मचारी होंगे निलंबित

राज्य मंत्री भारत सिंह कुशवाह ने बैठक में जोर देकर कहा कि मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शामिल है। इसलिए इस अभियान को पूरी गंभीरता के साथ अंजाम दें। उन्होंने कहा सरकार की मंशा के अनुरूप अधिकारियों एवं कर्मचारियों की टीम घर-घर पहुँचकर निर्धारित 33 योजनाओं के पात्र हितग्राहियों का पता लगाएँ और उन्हें लाभान्वित भी कराएँ। राज्य मंत्री श्री कुशवाह ने कुछ क्षेत्रों में सर्वे टीमों के न पहुँचने पर नाराजगी जताई। बैठक में मौजूद नगर निगम आयुक् किशोर कान्याल ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि टीम के जो सदस्य अभियान के तहत घर-घर नहीं पहुँच रहे हैं उनके खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की जाए।

ये भी पढ़ें – Mahakal Lok : इंदौर में मनेगा महाकाल लोक लोकार्पण का जश्न, हर घर जलेंगे दीप

शिविर लगाकर दी जायेगी सहायता

राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार भारत सिंह कुशवाह की अध्यक्षता में आयोजित हुई विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में के वार्ड-65 सहित अन्य पिछड़ी बस्तियों में मौजूदा माह के दौरान मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान के तहत पाँच बड़े शिविर लगाकर पात्र परिवारों को लाभान्वित कराने का निर्णय लिया गया। जिसके तहत 14 अक्टूबर को अजयपुर, 19 अक्टूबर को गिरवाई, 20 अक्टूबर को खुरैरी, 27 अक्टूबर को पुरानी छावनी व 29 अक्टूबर को वीरपुर में शिविर लगाए जायेंगे।