धिक्कार आंदोलन : ग्वालियर में विजयवर्गीय के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन

Activists-protested-against-the-government-under-the-leadership-of-Vijayvargiya-in-Gwalior

ग्वालियर।  भारतीय जनता पार्टी ने आरोप लगाए हैं कि कमलनाथ सरकार द्वारा किसानों ,युवाओं और समाज के विभिन्न वर्गों  के साथ निरंतर धोखाधड़ी की जा रही है, जनकल्याणकारी  योजनाओं को बंद करने का  षडयंत्र किया जा रहा है तथा केन्द्र की योजनाओं  का प्रदेशवासियों  को लाभ लेने  से रोका जा रहा है इन सब बातों को खिलाफ भारतीय जनता पार्टी ने आज 9 मार्च को प्रदेशव्यापी धिक्कार आंदोलन किया । इस दौरान प्रदेश के सभी जिलों में भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट का घेराव किया। इस आंदोलन का नेतृत्व अलग अलग जिलों में पार्टी के  बड़े नेताओं ने किया ।

ग्वालियर में पार्टी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने धिक्कार आंदोलन का नेतृत्व किया । सैकड़ों की संख्या में भाजपा नेता और कार्यकर्ता अल्कापुरी चौराहे पर इकट्ठा हुए और फिर वहां से पैदल कलेक्ट्रेट गए। कलेक्ट्रेट पर तैनात पुलिस ने बैरिकेड्स लगाकर उन्हें अंदर जाने से रोक दिया । इस दौरान भाजपा नेताओं, कार्यकर्ताओँ की पुलिस से जूमाझटकी भी हुई लेकिन 5 मार्च का सबक याद रखते हुए भाजपा ने  ज्यादा जोरआजमाइश नहीं की । भाजपा का कहना है कि प्रदेश सरकार को उसकी वादा खिलाफी के प्रति हम बार-बार आगाह कर रहे हैं लेकिन सरकार मध्यप्रदेश की जनता को परेशान करने से बाज नहीं आ रही है। कई  बार सरकार से किसानों की कर्ज माफी जैसे वादों पर अमल करने का आग्रह किया, लेकिन मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनकी सरकार के कानों पर जूं नहीं रेंगी। विजयवर्गीय  ने कहा कि प्रदेश के नागरिकों की उपेक्षा भारतीय जनता पार्टी अब बर्दाश्त नहीं करेगी ।