कांग्रेस करा रही थी भोज, प्रशासन पहुंचा तो भड़के, व्यय प्रेक्षक से अभद्रता, FIR दर्ज

Administration-fir-against-congress-leaders-in-gwalior

ग्वालियर। निर्वाचन आयोग की मनाही के बावजूद कांग्रेस नेता सोमवार की रात लक्ष्मीगंज स्थित हरे शिव मैरिज गार्डन में सामूहिक भोज का आयोजन कर रहे थे। जानकारी लगते ही प्रशासन की एफएसटी टीम मौके पर  पहुँच गई । उन्होंने व्यय  प्रेक्षक को भी बुला लिया । प्रशासन की टीम को देखते ही वहां भगदड़ मच गई और कांग्रेसी प्लेट लेकर यहाँ वहां भागने लगे। टीम के अफसरों ने जब पूछताछ की तो कांग्रेसी भड़क गए और व्यय प्रेक्षक से अभद्रता कर दी। रिटर्निंग ऑफिसर के लिखित निर्देश पर दो कांग्रेस नेताओं के विरुद्ध FIR कराई गई है।

सूत्रों की माने तो हरे शिव मैरिज गार्डन में कांग्रेस प्रत्याशी प्रवीण पाठक ने ब्लॉक अध्यक्ष,सेक्टर अध्यक्ष,मंडलम अध्यक्ष और पोलिंग एजेंट्स की बैठक और भोजन का प्रोग्राम रखा था । इसमें पोलिंग एजेंट्स को पोलिंग किट और एक लिफाफा दिया जाने की व्यवस्था की गई थी। लेकिन लिफाफा और किट दी जाती उससे पहले ये खबर प्रशासन पहुँच गया और मौका देखकर प्रवीण पाठक वहां से खिसक लिए। हालाँकि प्रवीण पाठक की मौजूदगी की किसी ने पुष्टि नहीं की है।

जब प्रशासन की टीम ने वहां मौजूद कांग्रेसियों से पूछताछ की तो उन्होंने बच्चे की बर्थडे का कार्यक्रम बता दिया लेकिन जब व्यय प्रेक्षक ने बच्चे को बुलाने और उसका बर्थ सर्टिफिकेट दिखाने के लिए उनसे कहा तो हरीश दीवान और पिंकी दीवान भड़क गए और उन्होंने व्यय प्रेक्षक से अभद्रता कर दी। दोनों ही नेता कांग्रेस के प्रत्याशी प्रवीण पाठक के समर्थक बताये जा रहे हैं।

एफएसटी प्रभारी वीरेंद्र कौशल और पवन शर्मा ने जब व्यय प्रेक्षक की मौजूदगी में  रात्रि भोज की वीडियोग्राफी  शुरू की तो वहां मौजूद कांग्रेस नेता हरीश दीवान और पिंकी दीवान भड़क गए और उन्होंने व्यय प्रेक्षक से अभद्रता कर दी उन्हें अपशब्द कहे और धक्का दे दिया। सूचना मिलते ही ग्वालियर दक्षिण विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग ऑफिसर सीबी प्रसाद  और सीएसपी लश्कर मौके पर पहुंचे और fst प्रभारी की पुष्टि के बाद रिटर्निंग ऑफिसर सीबी प्रसाद ने लिखित में दोनों कांग्रेस नेताओं के विरुद्ध एफआईआर कराने के निर्देश दिए। जिसके बाद जनकगंज थाने में वीरेंद्र कौशल ने हरीश दीवान और पिंकी दीवान के विरुद्ध fir करा दी।

कांग्रेस करा रही थी भोज, प्रशासन पहुंचा तो भड़के, व्यय प्रेक्षक से अभद्रता, FIR दर्ज