होटल रमाया के अतिक्रमण को प्रशासन ने हटाया, भाजपा से सम्बन्ध के चलते नहीं होती थी कार्रवाई

administration-removed-the-encroachment-of-Ramaya-hotel

ग्वालियर। आकाशवाणी तिराहे के पास बने होटल रमाया द्वारा सरकारी नाले पर किये गए अतिक्रमण को प्रशासन ने आज SDM की मौजूदगी में हटा दिया। होटल द्वारा किये गए अतिक्रमण की कई बार शिकायतें की गई लेकिन अपने रसूख के चलते खनन कारोबारी होटल संचालक पर कभी प्रशासन ने कार्रवाई की हिम्मत नहीं दिखाई। लेकिन पिछले दिनों सरकारी नाले की जमीन का सीमांकन कर होटल संचालक को 22 जून को नोटिस दिया गया और तीन दिन में अतिक्रमण हटाने का  अल्टीमेटम दिया गया था। लेकिन जब होटल प्रबंधन ने अतिक्रमण खुद नहीं हटाया तो आज प्रशासन ने इसे हटा दिया।

खनन कारोबारी राम निवास शर्मा ने कुछ साल पहले आकाशवाणी तिराहे के पास मेला रोड पर होटल रमाया का निर्माण किया था। निर्माण के समय से ही होटल रमाया विवादों में आ गया। लोगों ने प्रशासन को शिकायत की कि सरकारी नाले की जमीन को पाटकर होटल का निर्माण किया गया है लेकिन भाजपा नेताओं से गहरे सम्बन्ध और होटल संचालक के रसूख के चलते इस पर कार्रवाई नहीं की गई। लेकिन पिछले दिनों एक शिकायत के बाद कलेक्टर के निर्देश पर तहसीलदार शिवानी पांडे ने नाले जी जमीन का सीमांकन कराया जिसमें मालूम चला कि 840 वर्गफीट जगह होटल द्वारा अतिक्रमण की गई है। इस जगह पर होटल संचालकों ने जनरेटर टीन शेड आदि रख कर पक्का निर्माण करा लिया गया है ।  नोटिस में होटल संचालक को तीन दिन में स्वयं अतिक्रमण हटाकर SDM न्यायालय में रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए थे। लेकिन जब होटल प्रबंधन ने समय सीमा में कोई कार्रवाई नहीं की तो आज SDM अनिल बनवारिया ने तहसीलदार शिवानी पांडे और नगर निगम के अमले के साथ 840 वर्गफीट जमीन पर किये गए अतिक्रमण को हटा दिया।

गौरतलब है कि खनन कारोबारी राम निवास शर्मा के भाजपा नेताओं से बहुत गहरे सम्बन्ध हैं। और प्रदेश में भाजपा सरकार के कार्यकाल में ही होटल का निर्माण किया गया जिसका शुभारम्भ केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने किया था। भाजपा नेताओं से सम्बन्ध के चलते ही कोई भी सरकारी नाले पर बने होटल पर अब तक कार्रवाई की हिम्मत नहीं जुटा पाता था लेकिन अब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है इसलिए माना जा रहा है कि होटल द्वारा किये गए अतिक्रमण की फाइलें खुलने लगी हैं और इसी के तहत ये कार्रवाई की गई है। हालांकि आज की कार्रवाई को भी कुछ लोग औपचारिकता बता रहे हैं सूत्रों की माने तो शिकायतकर्ताओं ने सुबूतों के साथ प्रशासन को शिकायत की है कि पूरा होटल ही नाले की सरकारी जमीन पर बना है। हालांकि ये जांच का विषय है।  SDM अनिल बनवारिया का कहना है कि अभी 840 वर्गफीट पर हुए  अतिक्रमण को हटा दिया गया है , आगे जैसे निर्देश मिलेंगे कार्रवाई की जाएगी।