10 महीने बाद पुलिस ने सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थी, दोनों आरोपी गिरफ्तार

ग्वालियर , अतुल सक्सेना। हजीरा थाना पुलिस ने 10 महीने पहले हुए एक अंधे कत्ल की गुत्थी को सुलझाकर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों में एक महिला भी शामिल है। हत्या का कारण आरोपी की महिला मित्र के लिए अभद्र बातें करना और आपसी मन मुटाव सामने आई है।

पुलिस अधीक्षक ग्वालियर अमित सांघी ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि पिछले साल 30 -31 अक्टूबर की दर्मियानी रात बंद पड़ी जेसी मिल के जंगल में एक व्यक्ति की पत्थर से कुचली लाश मिली थीं जिसकी पहचान ऑटो चालक धर्मेंद्र कोली के रूप में हुई। हत्या के बाद जब हजीरा थाना पुलिस ने विवेचना शुरू की तो एक धुंधला सीसीटीवी फुटेज मिला जिसमें एक व्यक्ति और एक महिला दिखाई दी फिर लगातार विवेचना और साइबर सेल की मदद से पुलिस ने आरोपी भानु जाटव और उसकी महिला मित्र पिंकी गुप्ता को पकड़ लिया। दोनों ने अपना अपराध कुबूल कर लिया है। आरोपी भानु ने पुलिस को बताया कि वो भी ऑटो चलाता है। हम तीनों दोस्त हैं। लेकिन कुछ दिनों से मृतक धर्मेंद्र छोटी छोटी बातों पर झगड़ता था, पिंकी के बारे में भी उल्टी सीधी बात करता था। इसलिए घटना वाले दिन हमने शराब पी और जब उसने फिर वही बात की तो पत्थर से उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने दोनो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।