दो दिन में 7 पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद रेड से ऑरेंज जोन में जाने की उम्मीद धूमिल, छूट में होगी कटौती

ग्वालियर/अतुल सक्सेना

दूसरे जिलों की तुलना में ग्वालियर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या पर लगा ब्रेक अब हटने लगा है और यहाँ भी संख्या बढ़ रही है। बुधवार को पांच नये पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद दो दिन में ग्वालियर जिले में सात मरीज सामने आने से संख्या बढ़कर 16 हो गई है। इसके बाद से प्रशासन में हड़कंप है। माना जा रहा है कि अब जिला प्रशासन शहर में दी जा रही छूट में कटौती करेगा। इसी के साथ ग्वालियर के रेड जोन से ऑरेंज जोन में जाने की उम्मीद भी धूमिल हो गई है।

मंगलवार को ग्वालियर में एक साथ दो पॉजिटिव मरीज सामने आये जिन्हें इलाज के लिए सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया, अभी चौबीस घंटे भी पूरे नहीं हुए थे कि बुधवार को एक साथ पांच रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। जिसमें तीन मरीज शहर के और दो मरीज पिछोर डबरा के हैं। शहर के तीन मरीज सिल्वर स्टेट बिल्डिंग में रहने वाले उसी मरीज के परिवार के सदस्य हैं जो पहले पॉजिटिव मिला अब उसके पिता, पत्नी और बेटा पॉजिटिव निकले हैं। वहीं पिछोर में मिले दो पॉजिटिव भोपाल में नौकरी की तलाश में गए थे और वहाँ से किसी तरह ग्वालियर पहुंचे। इन सभी पॉजिटिव पेशेंट को सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

जिला प्रशासन रोज हालात की समीक्षा करने के बाद रात को अगले दिन दी जाने वाली छूट और प्रतिबंध के आदेश जारी करता है। शहर के लोगों को सुविधाएं देने के लिए थोक किराना बाजार, खेरीज किराना दुकानें, दूध,अंडे, ब्रेड की दुकानें, निर्माण कार्य, सब्जी विक्रय,आटा पिसाई केंद्र सहित कई सुविधाएं खोली जा रही हैं। लेकिन अब माना जा रहा है कि पॉजिटिव मरीजों की संख्या में वृद्धि के बाद प्रशासन सख्ती करेगा और बहुत से छूट को रद्द करेगा। उधर रेड जोन से ऑरेंज जोन में जाने की उम्मीद भी अब खत्म होती दिख रही है क्योंकि 10 या इससे अधिक पॉजिटिव मरीज होने पर जिला रेड जोन रहता है वर्तमान में संख्या 16 हो गई है जिसमें से 6 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं और एक्टिव मरीज 10 हैं जिनका इलाज चल रहा है। अब देखना ये है कि जिला प्रशासन कितनी सख्ती करता है।