वायुसेना चीफ का बड़ा दावा- बालाकोट से पहले भी हो चुकी है एयर स्ट्राइक

air-chief-marshal-bs-dhanoa-claimed-that-after-kargil-war-air-force-striked-terrorist-camp-across-loc-in

ग्वालियर।

इस बार लोकसभा चुनाव में एयर स्टाइक का मुद्दा छाया रहा है। बीजेपी ने इसे हथियार बनाकर विपक्ष के खिलाफ जनता के बीच भुनाया और जीत हासिल की। लेकिन लोकसभा चुनाव भले ही खत्म हो गए हो लेकिन एयर स्ट्राकर की चर्चा अब भी सुर्खियां बनी हुई है।आज जहां करगिल युद्ध में मिली ऐतिहासिक जीत के बीस साल पूरा होने पर भारतीय वायुसेना जश्न मना रही है, वही वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ का बड़ा बयान सामने आया है। धनोआ का दावा है कि बालाकोट से पहले भी LOC पार करके हुई एयर स्ट्राइक हुई थी।

दरअसल, एयर चीफ मार्शल धनोआ सोमवार को करगिल युद्ध के 20 साल पूरे होने पर ग्वालियर एयरबेस पर एक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे, जहां उन्होंने दावा किया है कि करगिल युद्ध के बाद 2002 में भी भारतीय वायुसेना ने एलओसी क्रॉस कर आतंक के ठिकानों को निशाना बनाया था। वायुसेन�� ने ग्वालियर के महाराजपुरा एय़रबेस पर हुई एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि, साल 2002 में की गई इस एयर स्ट्राइक में लेजर गाइडेड बमों का इस्तेमाल किया गया था। यह 2 अगस्त, 2002 को एयर स्ट्राइक की गई थी। संसद पर हमले के बाद साल 2002 में ऑपरेशन पराक्रम के दौरान यह एयर स्ट्राइक की गई थी।

 एयरस्ट्राइक के बाद कोई पाक विमान हमारी एयरस्‍पेस में नहीं घुसा 

साथ ही उन्होंने दावा किया कि बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान का कोई भी लड़ाकू विमान भारत की हवाई सीमा में नहीं आया था। पाकिस्तान ने एफ16 लड़ाकू विमानों से एमराम मिसाइल अपने देश की सीमा से ही दागे थे, इस दौरान भारतीय वायुसेना ने त्वरित कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान के एक एफ16 लड़ाकू विमान को मार गिराया था। जबकी पाकिस्तान ने 27 फरवरी को दावा किया था कि पाकिस्तानी लड़ाकू विमान भारतीय सीमा में आए थे।

एयरस्ट्राइक ने पाक की अर्थव्यवस्था बिगाड़ी

26 फरवरी को हुए बालाकोट स्‍ट्राइक के बाद उपजे हालात पर बोलते हुए उन्‍होंने कहा कि हमने उसके अगले दिन यानी 27 फरवरी को श्रीनगर एयरस्‍पेस को 2-3 घंटे के लिए रोका था, हालांकि इस तनाव का असर बाकी नागरिक उड्डयन पर नहीं होने दिया गया क्‍योंकि हमारी अर्थव्‍यवस्‍था काफी बड़ी और सशक्‍त है। पाकिस्‍तान ने अपना एयरस्‍पेस बंद रखा है तो ये उनकी समस्‍या है। हमारी अर्थव्‍यवस्‍था वाइब्रेंट है और इसमें एयर स्‍ट्राइक का बहुत अहम रोल है, इसलिए आपने गौर किया होगा कि एयरफोर्स ने कभी सिविल एयर ट्रैफिक को बंद नहीं किया।

बता दें कि भारत ने पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद पाकिस्तान के बालाकोट में छुपे आतंकवादियों पर एयर स्ट्राइक किया था। पुलवामा आतंकी हमले में भारतीय सुरक्षाबलों के 40 जवान शहीद हो गए थे. इसके बाद दोनों देशों के बीच तनाव काफी बढ़ गया था।भारत ने इस आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का तमगा छीन लिया था और आयात शुल्क काफी बढ़ा दिया था।