लापरवाही पर गिरी गाज, CMO और दो उपयंत्री सस्पेंड, 10 को कारण बताओ नोटिस

ग्वालियर।  नगरीय प्रशासन एवं आवास के प्रमुख सचिव संजय दुबे एवं नगरीय प्रशासन एवं आवास और जनसंपर्क आयुक्त पी नरहरि ने ग्वालियर एवं चंबल संभाग के नगरीय निकायों के अधिकारियों की बैठक लेते हुए कहा कि नगरीय निकायों में डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण के कार्य को प्राथमिकता दें। इस कार्य में स्थानीय पार्षद एवं अन्य जनप्रतिनिधियों का भी सहयोग लें। जिससे इस कार्य में और अधिक गति आ सके। 

बैठक में कार्य में लापरवाही बरतने एवं रुचि नहीं लेने के कारण नगर पंचायत कैलारस के मुख्य नगर पालिका अधिकारी संतोष शर्मा, नगर पंचायत विजयपुर के उपयंत्री अभय प्रताप सिंह चौहान और नगर निगम ग्वालियर के उपयंत्री विष्णु पाल को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है| वहीं नगर पंचायत पोरसा के मुख्य नगर पालिका अधिकारी बालकृष्ण कौरव, डबरा के मुख्य नगर पालिका अधिकारी राजबाबू गुप्ता, दतिया के बाबूलाल कुशवाह, अम्बाह के रामनिवास शर्मा, बड़ोनी के विजय बहादुर सिंह, साढ़ोरा के रवि बुनकर, शिवपुरी के कृष्णकांत पटेरिया, ईको ग्रीन व जल वितरण को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं। 

प्रमुख सचिव श्री दुबे एवं आयुक्त श्री नरहरि ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत निकायवार स्वच्छता के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों की प्रगति की समीक्षा करते हुए मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को निर्देश दिए कि नगरीय निकायों में डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण का कार्य किया जा रहा है, उसे प्राथमिकता दें। इस कार्य में स्थानीय जनप्रतिनिधियों को भी जोड़ें। उन्होंने संग्रहित किए जाने वाले गीले एवं सूखे कचरे को भी पृथक-पृथक संग्रहित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गीले कचरे से कम्पोस्ट बनाने का कार्य करें। उन्होंने ग्वालियर नगर में स्वच्छता अभियान के तहत जिन वार्डों में बेहतर कार्य किया गया है, उन वार्डों का विभिन्न नगरीय निकायों के मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को अवलोकन कराने के भी निर्देश दिए। श्री दुबे ने नगरीय निकायों के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि नगरीय क्षेत्रों में काफी कार्य करने की आवश्यकता है। इसके लिए सभी नगरीय निकाय के अधिकारी एवं कर्मचारी पूरी मुस्तैदी, ईमानदारी एवं निष्ठा के साथ कार्य करें। उन्होंने कहा कि कार्य के दौरान जो कमियां रह गई हैं उनको उपलब्ध संसाधनों का उपयोग कर बेहतर परिणाम देने के भी प्रयास करें।  उन्होंने कहा कि ऐसे अधिकारी एवं कर्मचारी जिनके द्वारा कार्य में रुचि नहीं ली जा रही है और काम नहीं कर रहे हैं उनके विरूद्ध कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए।प्रमुख सचिव  संजय दुबे एवं आयुक्त पी नरहरि ने प्रधानमंत्री आवास योजना की निकायवार प्रगति की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि प्रधानमंत्री आवास योजना के निर्माण कार्य में गति लाएं, जिससे हितग्राहियों को शीघ्र आवास प्राप्त हो सकें। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत विभिन्न बैंकों से समन्वय कर प्रकरणों के निराकरण में भी तत्परता लाई जाए और निर्माण कार्यों की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान रखा जाए। उन्होंने सभी मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे प्रतिदिन सुबह साफ-सफाई कार्य के साथ-साथ केन्द्रीय परियोजना, जल प्रदाय तथा आवास निर्माणों का भी निरीक्षण करें। उन्होंने निर्देश दिए कि सड़क पर पाइप लाईन डालने या अन्य कार्य किए जाने हेतु जो सड़कें खोदी जाएं, उस वक्त इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि जन सामान्य को आवागमन में किसी प्रकार की परेशानी न हो और इसकी पूर्व में ही लोगों को सूचना भी दी जाए। उन्होंने कहा कि नगरीय निकायों से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या या कठिनाई आने पर जिला कलेक्टर से समन्वय एवं चर्चा कर उसका निराकरण करें। निराकरण न होने की स्थिति में विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को भी अवगत कराएं। उन्होंने सभी नगरीय निकायों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि उनकी पहली प्राथमिकता नागरिकों को बेहतर मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराना है। 

मुरैना में ईडब्ल्यूएस, एलआईजी एवं एमआईजी आवास भवनों की प्रगति की समीक्षा करते हुए वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि एलआईजी एवं एमआईजी भवनों के आवंटन हेतु संभाग के अन्य जिलों में रहने वाले लोगों को भी क्रय करने हेतु प्रेरित करें। इसकी जानकारी विभिन्न माध्यमों से उन्हें दी जाए। उन्होंने मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने स्तर पर प्रतिमाह बैठक आयोजित कर योजनाओं की समीक्षा करें। आयुक्त ने बताया कि ग्वालियर संभाग से बैठक शुरू की गई हैं जो जबलपुर, सागर आदि संभागों में भी आयोजित की जायेंगीं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here