इमरती देवी का बड़ा बयान, कहा- कमलनाथ का मुँह काला हो गया, मैं हारी नहीं जीती हूँ

जिस दिन उन्होंने मेरा अपमान किया मैं उस दिन से ही सोच रही थी कि मैं जीतू या हारूं लेकिन कमलनाथ का मुँह काला होना चाहिए तो कमलनाथ का मुँह काला हो गया। उसी से मैं इतनी खुश हूँ। मै तो जीत गई। हमारी पूर्ण बहुमत की सरकार बनी है और कमलनाथ का चेहरा काला हो गया, कमलनाथ चले गए मुँह धोकर।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले की डबरा सीट से उप चुनाव (by election) हारने वाली शिवराज सरकार में महिला एवं बाल विकास मंत्री रही इमरती देवी (Imarti devi) ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (former cm kamalnath) पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि जिस दिन कमलनाथ ने मेरा अपमान किया था मैं उस दिन से ही सोच रही थी कि मैं जीतू या हारूँ, कमलनाथ का मुँह काला होना चाहिए, सो हो गया। उन्होंने कहा कि चुनाव हारी नहीं हूँ जीती हूँ और बहुत खुश हूँ।

ग्वालियर में अपने आवास पर समर्थकों के साथ घिरी बैठी पूर्व मंत्री इमरती देवी के चेहरे से कहीं ये नहीं दिख रहा था कि उन्हें चुनाव हारने का बहुत दुःख है, उल्टा वे कार्यकर्ताओ से कह रही थी कि हमें पहले की तरह ही काम करना है। दिन भर मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए भी तीन बार की विधायक हार से विचलित नहीं दिखी । सिंधिया की खास इमरती देवी अपने बयानों और कार्य शैली के लिए चर्चित रहीं उनके बयान “महाराज कहेंगे तो झाड़ू लगा लुंगी” और “महाराज कहेंगे तो कुआ में कूद जाऊंगी” बहुत चर्चा में रहे। इमरती देवी ने सिंधिया के कहने पर बिना कुछ सोचे मंत्री पद त्याग दिया था। लेकिन इस बार उनके भाग्य ने साथ नहीं दिया और वे अपने समधी कांग्रेस के सुरेश राजे से 7655 वोटो से चुनाव हार गई।

मीडिया से बात करते हुए इमरती देवी ने कहा कि मैं चुनाव हारी नहीं हूँ जीती हूँ, ये तो आप लोग कह्रहे हो कि हार गई। मेरी जनता ने मेरे कार्यकर्ता ने मुझे चुनाव जिताया है। मैंने 30,000 वोट से 65,000वोट कर लिए, इतने वोट पलटना मुश्किल बात थी। आप इतिहास उठा कर देख लो 30,000 से ज्यादा वोट डबरा में भाजपा के कभी नहीं आये लेकिन कार्यकर्ता ने पूरा वोट पलट दिया। जो गाँव कांग्रेस के थे वहाँ की पोलिंग भी मैं जीती हूँ, तो आप कैसे कह सकते हैं कि मैं हारी हूँ। कहाँ से हार गई। मैं सत्ता में हूँ सरकार में हूँ। हमारी सरकार बनी है। एक छोटा सा कार्यकर्ता भी सत्ता में बहुत बड़ा आदमी होता है।

सिंधिया, शिवराज, नरोत्तम मेरे साथ तो कैसे हार गई

इमरती देवी ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया मेरे साथ में हैं, बड़े भाई मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मेरे साथ में हैं, नरोत्तम मिश्रा मेरे साथ में हैं तो मैं कैसे चुनाव हार गई। बहुमत की सरकार बनी है तो मैं इसमें ही बहुत खुश हूँ। कोई लंगड़ी लूली सरकार नहीं है। तीन साल हमारी सरकार अच्छे से चलेगी। इमरती देवी राजनीति भाजपा में करती है भाजपा में ही करेगी। एक सवाल के जवाब में पूर्व मंत्री ने कहा कि पार्टी से कुछ नहीं होता कुछ गलतियाँ मेरी रही होंगी उससे दो ढाई हजार वोट मेरे कट गए। लेकिन दो साल में सब संभाल लुंगी। पहले से ही हराने के सवाल पर इमरती देवी ने कहा कि मैंने नेताओं से कहा था कि ये भाजपा की सीट नहीं है कांग्रेस की सीट है मैं चुनाव हार जाऊंगी फिर भी चुनाव में पूरी ताकत लगाउँगी और चुनाव जीतने की कोशिश करूँगी लेकिन कुछ वोट मेरे कम रह गए।

मुख्यमंत्री जी ने कहा मैं बड़ा भाई हूँ चिंता मत करना

इमरती देवी ने कहा कि मेरी मुख्यमंत्री जी से बात हुई उन्होंने कहा कि मैं तुम्हारा बड़ा भाई हूँ, मुख्यमंत्री हूँ आपके साथ हूँ चिंता मत करना। मेरी भाभी जी(साधना सिंह) से भी बात हुई उन्होंने कहा कि दीदी मैं बैठी हूँ आप चिंता मत करना।

कमलनाथ का मुँह काला हो गया यही मेरे लिए जीत है

पूर्व मंत्री इमरती देवी ने कमलनाथ के आइटम वाले बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि जिस दिन उन्होंने मेरा अपमान किया मैं उस दिन से ही सोच रही थी कि मैं जीतू या हारूं लेकिन कमलनाथ का मुँह काला होना चाहिए तो कमलनाथ का मुँह काला हो गया। उसी से मैं इतनी खुश हूँ। मै तो जीत गई। हमारी पूर्ण बहुमत की सरकार बनी है और कमलनाथ का चेहरा काला हो गया, कमलनाथ चले गए मुँह धोकर। उन्होंने कहा कि डबरा का विकास वैसे ही होगा जैसे होना चाहिए। मैं खुद खड़े होकर काम कराऊंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here