उपचुनाव से पहले बड़ी सफलता, सात बदमाशों के कब्जे से 15 पिस्टल, 20 लाख की ब्राउन शुगर बरामद

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। जिले की क्राइम ब्रांच पुलिस ने उप चुनाव से पहले बड़ी सफलता हासिल की है। पुलिस ने सात ऐसे बदमाशों को पकड़ा है जो अवैध हथियारों की तस्करी करते थे, साथ ही नशे का सौदा भी करते हैं। पुलिस ने इन बदमाशों के कब्जे से 20 लाख रुपये की ब्राउन शुगर, 15 देसी पिस्टल मय मैगजीन, 13 खाली मैगजीन और 5 जिंदा राउंड बरामद किये है। पुलिस बदमाशों से कड़ी पूछताछ कर रही है। उप चुनाव से पहले मिली इस सफलता को पुलिस बहुत बड़ी मान रही है।

पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने प्रेस कॉंफ़्रेंस में पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि क्राइम ब्रांच को सूचना मिली थी कि शहर में हथियारों की एक बड़ी खेप शिवपुरी लिंक रोड क्षेत्र में उतरने वाली है। सूचना के बाद एडिशनल एसपी क्राइम सतेंद्र सिंह तोमर ने डीएसपी क्राइम रतनेश सिंह तोमर को क्राइम ब्रांच की टीमें गठित कर कार्रवाई के निर्देश दिये। निर्देश मिलते ही टीमें शिवपुरी लिंक रोड पर नयागांव पनिहार हाई वे पर टीमों ने निगरानी शुरू कर दी। चैकिंग पॉइंट पर टीम को एक सफेद रंग की XUV 500 गाड़ी क्रमांक MP 07 CG 8206 आती दिखाई दी। पुलिस चैकिंग को देख ड्राइवर ने गाड़ी को मोड़ कर भगाने की कोशिश की लेकिन क्राइम ब्रांच की टीम ने घेराबंदी कर उसे पकड़ लिया। गाड़ी में सात बदमाश हथियारों से लैस बैठे थे। इनके पास बड़ी मात्रा में हथियार, ब्राउन शुगर थी जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया।

15 पिस्टल मय मैगजीन, 13 खाली पिस्टल, 5 जिंदा राउंड, 20 लाख की ब्राउन शुगर बरामद 

पुलिस इन सभी बदमाशों को गिरफ्तार कर थाने ले आई। बदमाशों ने अपने नाम विक्रम राणा, राहुल राजावत, बंटी लोधी, पुष्पेंद्र उर्फ पुस्सु भदौरिया, अमन सिंह, करण राणा उर्फ कुन्नु और से शरद झा बताये। तलाशी लेने पर विक्रम राणा और राहुल राजावत की जेब से 100-100 ग्राम ब्राउन शुगर 20 लाख रुपये कीमत की एवं 01-01 देसी पिस्टल मय मैगजीन के मिली, वहीं बंटी, पुष्पेंद्र, अमन, करण और शरद के कब्जे से भी 01-01 पिस्टल मय मैगजीन मिली। कार की तलाशी लेने पर विक्रम राणा के पास एक काला बैग मिला जिसमें 8 पिस्टल मय मैगजीन, 13 खाली पिस्टल और 05 जिंदा राउंड भी मिले। पूछताछ में बदमाशों ने बताया कि वो ये माल धार झाबुआ साइड से लाते हैं और यहाँ खपाते हैं। बदमाशों ने बताया कि एक पिस्टल का सौदा वो 20 से 25 हजार में करते हैं। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सभी बदमाश ग्वालियर के हैं और इनका पुराना आपराधिक रिकॉर्ड है। विक्रम राणा और राहुल हिस्ट्री शीटर हैं। सभी बदमाशों पर हत्या, हत्या के प्रयास, लूट, अवैध हथियार और मादक पदार्थ तस्करी के अपराध अलग अलग थानों में दर्ज हैं।

उपचुनाव से पहले ये एक बड़ी सफलता

एसपी का कहना है कि प्रारंभिक पूछताछ में बदमाशों ने बताया है कि वे पहले भी अवैध हथियारों की खेप यहाँ खपा चुके हैं। उन्होंने कहा कि इस बार भी बदमाशों द्वारा बड़ी खेप खपाने की तैयारी की थी लेकिन क्राइम ब्रांच ने इनके मंसूबों पर पानी फेर दिया। एसपी ने कहा कि उप चुनाव से पहले हथियारों की खेप का पकड़ा जाना बड़ी सफलता है। निश्चित ही इससे चुनावों में होने वाली संभावित घटना को हमने रोक लिया है। उन्होंने इस सफलता पर क्राइम ब्रांच की टीम को बधाई दी और बताया कि आईजी साहब ने बदमाशों को पकड़ने वाली टीम को इनाम देने की घोषणा की है।