बंगले पर रार : कार्यालय खाली कराये जाने पर भड़की भाजपा, चुनाव आयोग में शिकायत 

BJP-fluttered-after-vacating-office-in-gwalior--complaint-in-EC

ग्वालियर।  आचार संहिता लागू होते ही प्रशासनिक मुस्तैदी के दो अलग अलग वाकये ग्वालियर में देखने को मिले। रात के समय नगर निगम के कर्मचारी कांग्रेस कार्यालय का बोर्ड उखाड़ कर ले जाते  हैं, कांग्रेस पुलिस में शिकायत करती है तो आधी रात के बाद जिला प्रशासन एसडीएम को भेजकर रेसकोर्स रोड के सरकारी बंगले नंबर 38 में संचालित भाजपा कार्यालय को खाली करा देता है। भाजपा ने इसे बदले की भावना से की गई कार्रवाई बताते हुए कहा कि वे चुनाव आयोग में शिकायत की है|

कांग्रेस जिला अध्यक्ष डॉ देवेंद्र शर्मा  और जिला प्रवक्ता धर्मेंद्र शर्मा की शिकायत के बाद कलेक्टर अनुराग चौधरी ने बीती रात एसडीएम अनिल बनवारिया और नायब तहसीलदार शिवानी पाण्डेय को रेसकोर्स रोड स्थित बांग्ला नंबर 38 को खाली कराने भेजा।  शिकायत में कहा गया था कि ये बंगला मुरैना सांसद एवं प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री अनूप मिश्रा के नाम पर आवंटित है लेकिन वो यहाँ रहते नहीं है और यहाँ पिछले एक दशक से भाजपा का कार्यालय संचालित है।  और भाजपा के संभागीय संगठन मंत्री शैलेन्द्र बरुआ अनाधिकृत रूप से यहाँ रह रहे हैं।  कांग्रेस शिकायत पर प्रशासन की टीम रात 10 बजे 38 नंबर बंगले पर  पहुँच गई और बंगला खाली करने के लिए कहा।  लेकिन जो लोग वहां मौजूद थे उन्होंने  शैलेन्द्र बरुआ का इन्तजार करने के लिए कहा।  प्रशासन की टीम बहुत रात तक इन्तजार करती रही फिर उसने देर रात अपने कर्मचारियों की मदद से बंगला खाली करा लिया और बंगले में मौजूद भाजपा की प्रचार सामग्री,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह सहित  वरिष्ठ नेताओं के होर्डिंग कटआउट आदि जब्त कर लिए।

ग्वालियर जिला प्रशासन की इस कार्रवाई भाजपा ने कांग्रेस के इशारे पर की गई बदले की कार्रवाई बताया। भोपाल में पत्रकारों से बात करते हुए पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लुनावत ने कहा कि कमलनाथ सरकार बदलापुर सरकार बन गई है।  उन्होंने कहा कि हमने लिखकर दिया था कि होली के बाद बंगला खाली करा दिया जाएगा लेकिन कांग्रेस के कहने पर प्रशासन ने आधी रात को ऐसे बंगला खाली कराया जैसे किसी गुंडे मवाली के घर को दबिश देकर खाली कराया जाता है। उन्होंने कहा कि वे प्रशासन कृत्य की शिकायत चुनाव आयोग में करेंगे। श्री लुनावत ने कलेक्टर अनुराग चौधरी की नियुक्ति पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि कमलनाथ ने चुनावों को प्रभावित करने के लिए ग्वालियर में उनकी तैनाती की है।