ग्वालियर। कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ प्रशासन की बैठक पर भाजपा ने एक बार फिर सवाल उठाये हैं।  ग्वालियर ग्रामीण से भाजपा विधायक भारत सिंह ने कहा कि ग्वालियर जिला प्रशासन दबाव में है और वो केवल कांग्रेस नेताओं के हिसाब से बैठक बुलाता है। विधायक ने आरोप लगाए कि ये  सरकार कलेक्ट्रेट पर कांग्रेस का झंडा  लगाना चाहती है। उन्होंने कहा कि प्रशासन ने मुझे बैठक की ना तो लिखित सूचना दी और ना ही किसी अन्य तरह से आमंत्रित किया और ऐसा कई बार हो चुका है जबकि भाजपा के शासन में ऐसा कभी नहीं हुआ। 

ज्योतिरादित्य सिंधिया  ने आज कलेक्ट्रेट में मंत्री और विधायकों के साथ शहर विकास से जुड़े मुद्दों पर बैठक ली। पिछली बार   सिंधिया के बुलावे पर  जयविलास पैलेस पहुंचकर शहर विकास पर चर्चा करने वाले ग्वालियर जिला प्रशासन ने इस बार दावा किया था कि वो पक्ष विपक्ष के सभी जनप्रतिनिधियों को साथ बैठाकर शहर विकास पर चर्चा करेगा लेकिन ऐसा नहीं हो सका । आज कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया के अलावा खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर,महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी, विधायक मुन्नालाल गोयल और विधायक प्रवीण पाठक के साथ कलेक्टर अनुराग चौधरी,नगर निगम कमिश्नर संदीप माकिन और अन्य वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी शामिल हुए। प्रशासन ने दावा किया था कि उन्होंने सांसद विवेक शेजवलकर और भाजपा के एक मात्र विधायक भारत सिंह को भी आमंत्रित किया है लेकिन भारत सिंह ने इसे सिरे से ख़ारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि सांसद जी को आमंत्रण है कि नहीं मुझे नहीं मालूम लेकिन मुझे इस बैठक की कोई सूचना नहीं दी गई। भाजपा विधायक ने कहा कि इस समय जिला प्रशासन भारी दबाव में काम कर रहा है इसलिए वो सभी जनप्रतिनिधियों की जगह केवल कांग्रेस के नेताओं के हिसाब से बैठक बुलाता है। उन्होंने इसे लोकतंत्र का अपमान बताया। उन्होंने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि ये सरकार कलेक्ट्रेट पर कांग्रेस का झंडा लगाना चाहती है।

सिंधिया के बैठक लेने पर कस तंज 

कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया के बैठक लेने पर तंज कसते हुए विधायक भारत सिंह ने कहा कि इस सरकार में सिंधिया जी तो क्या कांग्रेस का कोई भी नेता बैठक ले सकता है   उन्होंने कहा कि हो सकता है मुख्यमंत्री जी ने सिंधिया जी को अपना प्रतिनिधि बनाकर कोई विशेष अधिकार दे दिए हो । इसलिए वे ग्वालियर में बैठकें लेते है। गौरतलब है कि इस समय संसद का सत्र चल रहा है जिसके कारण सांसद विवेक शेजवलकर दिल्ली में व्यस्त हैं। और ये बात प्रशासन भी जानता था। ऐसे में भाजपा विधायक भारत सिंह के आरोपों में दम दिखाई देता है। बहरहाल ग्वालियर का विकास इस समय भाजपा और कांग्रेस के नेताओं की नूराकुश्ती के बीच अटका हुआ है । अब देखना ये है कि जो निर्णय सिंधिया की मौजूदगी में आज लिए गए है उनपर कितनी जल्दी अमल होता है।