ग्वालियर, अतुल सक्सेना। अब इसे विडम्बना ही कहा जाएगा कि सत्तधारी भाजपा (BJP) नेताओं को नगर निगम के एक अधिकारी के खिलाफ एकजुट होकर धरना देना पड़ा। मामला क्षेत्र की साफ़ सफाई और समस्याओं से जुड़ा था, भाजपा (BJP) नेताओं की माने तो क्षेत्रीय अधिकारी ने साफ़ सफाई और क्षेत्र की अन्य समस्याओं को अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर होने का कहकर इन्हें दूर करने से इंकार कर दिया। खास बात ये है कि भाजपा (BJP) नेताओं के धरने में पूर्व विधायक (Ex MLA) भी शामिल हो गए, उधर कांग्रेस (Congress) ने भाजपा (BJP) के धरने पर चुटकी ली है।

क्षेत्र की सफाई नहीं होने और अन्य समस्याओं का निराकरण नहीं होने से नाराज बीजेपी वीर सावरकर मंडल (BJP Veer Savarkar Mandal) के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने क्षेत्रीय कार्यालय मोतीमहल पर धरना दिया। भाजपा ( BJP) का ये धरना कुछ अलग था भाजपा नेता कुर्सियों पर धरने पर बैठे थे, मंडल अध्यक्ष जयंत शर्मा का कहना था क्षेत्र में नलों में गन्दा पानी आ रहा है, सफाई व्यवस्था चरमराई हुई है, टैंकरों से मनमाने तरीके से सप्लाई हो रही है, शिकायत करने पर नगर निगम के अधिकारी सुनते नहीं है।

ये भी पढ़ें –MP में सरकार ने तय की कोरोना टेस्टिंग की फीस, अब अस्पताल और लैब नहीं वसूल सकेंगे मनमाना पैसा

जयंत शर्मा ने कहा कि मंगलवार को पार्टी का स्थापना दिवस है हमने क्षेत्रीय अधिकारी अमित गुप्ता (ZO Amit Gupta) से कहा कि सफाई करवा दीजिये तो उन्होंने इंकार कर दिया और कहा कि ये मेरे अधिकार क्षेत्र में नहीं आता। ऐसे ही उन्होंने अन्य समस्याओं के लिए अधिकार क्षेत्र में ना होने की बात कहकर निराकरण से इंकार कर दिया। बकौल जयंत शर्मा क्षेत्रीय अधिकारी ने कहा कि मेरे पास केवल भवन निर्माण की मंजूरी देने के अधिकार हैं आप मेरी कमिश्नर से शिकायत कर निलंबन करवा दीजिये।  जयंत शर्मा ने कहा कि वो यहाँ धरना देने नहीं आये थे समस्याएं बताने आये थे लेकिन क्षेत्रीय अधिकारी अमित गुप्ता (ZO Amit Gupta) का एटीट्यूट बहुत ख़राब था। उन्होंने कहा कि ऐसे ही अधिकारियों के कारण नगर निगम और पार्टी की छवि ख़राब होती है।

क्षेत्रीय अधिकारी के खिलाफ नगर निगम कार्यालय के बाहर BJP का धरना, Congress ने ली चुटकी

पूर्व विधायक हुए धरने में शामिल 

भाजपा पदाधिकारी और कार्यकर्ता बहुत देर तक क्षेत्रीय कार्यालय मोतीमहल के बाहर कुर्सी धरने पर बैठे रहे बाद में उनका समर्थन करने पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल (Ex MLA Munna lal Goyal) और जिला महामंत्री दीपक शर्मा भी पहुँच गए। धरने की सूचना मिलते है एडीएम रिकेश वैश्य, नगर निगम के अपर आयुक्त आरके श्रीवास्तव और एसडीएम प्रदीप तोमर सहित अन्य अधिकारी भी मोतीमहल धरना स्थल पर पहुँच गए। पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल को अधिकारियों ने आश्वासन दिया कि समस्यायों का निराकरण शीघ्र हो जाएगा और क्षेत्रीय अधिकारी से सम्बंधित आपकी शिकायत निगम कमिश्नर शिवम वर्मा तक पहुंचा देंगे। उधर मुन्नालाल गोयल ने  प्रशासनिक अधिकारियों को चेतावनी दी कि समस्याएं नहीं निपटी तो अभी क्षेत्रीय कार्यालय पर आये हैं अगला पड़ाव निगम मुख्यालय होगा।

कांग्रेस ने ली भाजपा के धरने पर चुटकी 

भाजपा (BJP) के धरने पर कांग्रेस (Congress) ने चुटकी ली है,  कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता आरपी सिंह ने सवाल किया कि स्वयं की सरकार में भाजपा (BJP) नेताओं को नगर निगम कर्मचारियों, अधिकारियों के खिलाफ धरना देने की आवश्यकता क्यों पड़ी? कांग्रेस (Congress) ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) में आपसी खींचतान मची हुई है। जहाँ तक जनसमस्याओं की बात है तो ये केवल दिखावा हो रहा है। सारे कार्यकर्ता चाहे वह सरकार के प्रतिनिधि हो या संगठन के, सब अपनी जगह बचाने में जुटे हुए हैं क्योंकि ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने आकर पूरी पार्टी में खलबली मचा दी है और धीरे-धीरे अब इस संगठन की अंदरूनी लड़ाई बाहर आने लगी है।