bsf-school-closed-high-court-send-notice

ग्वालियर । सीमा पर  देशवासियों की सुरक्षा के लिए तैनात सीमा सुरक्षा बल यानि BSF के एक फैसले ने स्कूली बच्चों को  के भविष्य को खतरे में डाल दिया है। सीमा सुरक्षा बल ने टेकनपुर स्थित अपने सीनियर सेकेंडरी स्कूल को बंद किए जाने  का फैसला किया है। इस फैसले के खिलाफ वहां पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावकों ने हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर की है। याचिका की सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने स्कूल प्रबंधन को नोटिस जारी किया है। 

बीएसएस सीनियर सेकेंडरी स्कूल में पढ़ने वाले दो बच्चों की ओर से हाईकोर्ट में  दायर याचिका में प्रबंधन के फैसले को गलत बताते हुए छात्रों के भविष्य का हवाला दिया है। हाई कोर्ट ने बीएसएफ की ओर से पेश हुए असिस्टेंट सॉलिसिटर जनरल ऑफ इंडिया विवेक खेड़कर से पूछा है कि आखिर ऐसे क्या कारण है जिसकी कारण स्कूल को बंद किया जा रहा है। दरअसल बीएसएफ की टेकनपुर अकादमी में वहां के अधिकारियों जवानों के अंशदान से एक सोसायटी द्वारा संचालित सीनियर सेकेंडरी स्कूल की स्थापना 1972 में की गई थी। यहां अधिकांशत बीएसएफ जवानों के बच्चे अध्ययनरत हैं इसके अलावा आसपास रहने वाले कुछ बच्चे भी यहां पढ़ाई करते हैं। कक्षा 1 से लेकर इंटर तक इस स्कूल को काफी प्रतिष्ठित माना जाता है और यहां एडमिशन को लेकर कड़ी मशक्कत करना पड़ती है। बीएसएफ के कर्मचारियों ने एक सोसायटी बनाकर स्कूलों की शुरुआत की थी। पूरे देश में बीएसएफ के इस तरह के 6 स्कूल है लेकिन ग्वालियर के टेकनपुर स्थित स्कूल को ही बंद करने का फैसला प्रबंधन ने लिया है। याचिकाकर्ता के एडवोकेट एस के शर्मा के मुताबिक हाईकोर्ट ने प्रबंधन से स्कूल को बंद करने के कारणों के बारे में पूछा है और उन्हें नोटिस जारी किए हैं । हाईकोर्ट इस मामले की समीक्षा करेगा और स्कूल प्रबंधन के जवाब का इंतजार करेगा ।