-BSP-candidate-balveer-arrested-in-the-case-of-attempt-to-murder-

ग्वालियर । बहुजन समाज पार्टी को मध्यप्रदेश की ग्वालियर सीट पर झटका लगा है। पुलिस ने पार्टी के लोकसभा उम्मीदवार बलवीर सिंह कुशवाह को गिरफ्तार कर लिया है। बलवीर के खिलाफ हत्या का प्रयास का मामला 2017 से दर्ज है। और तभी से वो फरार चल रहा था। बलवीर सिंह ने इस मामले में न्यायालय में जमानत याचिका भी लगाई थी लेकिन न्यायालय ने उसे अमान्य कर दिया था । बलवीर सिंह शनिवार को अपना नामांकन भरने वाले थे।

बहुजन समाज पार्टी ने कुछ दिन पहले ही ग्वालियर सीट से बलवीर सिंह कुशवाह को प्रत्याशी घोषित किया है लेकिन बीती रात हुए एक घटनाक्रम ने पार्टी को तगड़ा झटका दिया है। बीती रात पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। दरअसल बलवीर सिंह हत्या के प्रयास के मामले में पिछले दो साल से फरार चल रहा था। गौरतलब है कि 11 नवंबर 2017 नीलेश पांडे नामक व्यक्ति को सागर ताल के पास गोली मारी गई थी , घायल अवस्था में नीलेश ने पुलिस को बताया था कि गोली बलवीर सिंह कुशवाह ने हत्या करने के इरादे  से मारी है। पुलिस ने नीलेश की शिकायत पर बलवीर सिंह कुशवाह के खिलाफ धारा 307,34 के तहत हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर लिया । लेकिन मामला दर्ज होने के बाद से ही बलवीर फरार चल रहा था , पुलिस ने कई बार बलवीर को पकड़ने के लिए उसके कई ठिकानों पर दबिश दी लेकिन वो कहीं नहीं मिला। उसकी उम्मीदवारी घोषित होते ही फरियादी नीलेश पांडे ने पुलिस अधीक्षक से इसकी शिकायत की, जिसके बाद बीती रात बहोड़ापुर थाना पुलिस ने उसे डीडी मॉल फूलबाग के पास से गिऱफ्तार कर लिया। पुलिस से  की शिकायत के अनुसार नीलेश पांडे और उसके दोस्त बलवीर सिंह कुशवाह के साथ मिलकर गिरवाई के पास जमीन की प्लॉटिंग कर रहे थे, तभी पैसों को लेकर उनके बीच कई बार विवाद हुआ हाथापाई भी हुई। बलवीर ने नीलेश को उसके द्वारा दिए गए पैसे भूल जाने की धमकी दा लोकिन नीलेश लगातार पैसों के लिए दबाव बनाता रहा जिसके बाद एक दिन बलवीर ने अपने साथियों के साथ 11 नवंबर 2017 को नीलेश को गोली मार दी और फरार हो गया। और राजनेताओं के बीच अच्छी पकड़ होने के चलते पुलिस के हाथ नहीं आया। उधर पुलिस ने बलवीर के लोकसभा प्रत्याशी होने के चलते अपने सुर बदल लिए हैं। रात तक गिरफ्तारी की बात करने वाली बहोड़ापुर थाना पुलिस के अनुसार बलवीर सिंह कुशवाह के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज है अभी अपराध सिद्ध नहीं हुआ है, विवेचना जारी है इसलिए उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।  बताना जरूरी है कि बलवीर सिंह कुशवाह शनिवार 20 अप्रैल को अपना नामांकन फॉर्म भरने वाले थे। अब देखना ये होगा इस घटनाक्रम का उनकी उम्मीदवारी पर क्या असर होता है।