आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को लेकर कैबिनेट मंत्री का बड़ा ऐलान

ग्वालियर/अतुल सक्सेना। प्रदेश की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता जल्द ही एक ही ड्रेस में दिखाई देंगी। उनके पास साइकिल और मोबाइल भी होगा जिससे वे विभाग की योजनाओं को अच्छे से पहुंचा सकें और कुपोषण मिटाने के लिए और मेहनत करें। ये सुविधा प्रदेश सरकार प्रदान करेगी, यह घोषणा प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने मंगलवार को ग्वालियर में की। उन्होंने कहा कि इसकी शुरुआत 8 मार्च को महिला दिवस पर मुख्यमंत्री कमलनाथ के हाथों छिंदवाड़ा से होगी।

मंगलवार को महात्मा गांधी सेवा आश्रम, जीआईजेड एवं डब्ल्यूएचएच के सहयोग से बाल भवन ग्वालियर में एक दिवसीय राज्य स्तरीय आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित किया गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी थी। इस मौके पर उन्होंने पोषण शिक्षा पर आधारित वार्षिक कैलेण्डर एवं हैण्डवॉश किट का विमोचन भी किया।

इमरती देवी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का प्रयास है कि प्रदेश कुपोषण से मुक्त हो। इस दिशा में महिला एवं बाल विकास विभाग की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका एवं अन्य अधिकारी-कर्मचारी अपनी पूरी जवाबदेही निभाकर प्रदेश से कुपोषण को मुक्त करने की दिशा में कार्य कर रहे हैं। उन्होंने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से कहा कि जहां आंगनवाड़ी कार्यकर्ता पदस्थ हैं वहाँ वे उपस्थित रहकर केन्द्र के माध्यम से हितग्राहियों को सेवाएं दें।

इमरती देवी ने कहा कि महिला बाल विकास के सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं, सहायिकाओं की लगन व मेहनत का ही परिणाम है कि प्रदेश को राष्ट्रीय स्तर पर दो-दो पुरस्कार प्राप्त हुए। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार का प्रयास आगे भी रहे जिससे भविष्य में विभाग को इसी प्रकार के पुरस्कार प्राप्त होते रहें।

महिला एवं बाल विकास मंत्री ने कहा कि कुपोषण कोई बीमारी नहीं है बल्कि बच्चों के आहार में पोषक तत्वों की कमी होना मुख्य कारण है। इसे घरों में उपयोग होने वाले खाद्य पदार्थों से दूर किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि कुपोषण मिटाने के लिए कार्यकर्ता और अच्छे से काम करें इसलिए उन्हें मोबाइल फोन और साइकिल प्रदान की जाएंगी। इसके साथ ही प्रदेश में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए ड्रेस कोड भी लागू किया जायेगा। इसकी शुरुआत 8 मार्च महिला दिवस से होगी ।

मुख्यमंत्री महिला दिवस के मुख्य समारोह में छिंदवाड़ा से इस सौगात की शुरुआत करेंगे। मंत्री ने स्पष्ट किया कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता केन्द्र के माध्यम से हितग्राहियों को सेवाएं देने के अलावा अन्य कोई कार्य उनसे नहीं लिया जायेगा। इस संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिए जा चुके हैं। इमरती देवी ने कहा है कि कुपोषण को मध्य प्रदेश से जड़ से मिटाना है इसलिए आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को हर तरह से लैस किया जाना जरूरी है।