आँतरी क्षेत्र के दो दर्जन गाँवों में सिंचाई के लिये बनेगी नहर :मंत्री यादव

canal-will-be-constructed-for-irrigation

ग्वालियर ।  आंतरी, एराया, बड़ेरा भारस, तोड़ा व निहोना सहित इस क्षेत्र के लगभग दो दर्जन गाँवों के किसानों की सिंचाई संबंधी समस्या का जल्द ही निदान होगा। यहाँ के खेतों की सिंचाई के लिये नहर का निर्माण कराया जायेगा। यह बात पशुपालन, मछुआ कल्याण तथा मत्स्य विकास मंत्री लाखन सिंह यादव ने कही। श्री यादव मंगलवार को आंतरी क्षेत्र के भ्रमण पर पहुँचे थे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आंतरी क्षेत्र की बुनियादी समस्याओं के निदान के लिये सरकार पूरी ताकत के साथ खड़ी है। 

पशुपालन मंत्री श्री यादव ने कहा कि आंतरी क्षेत्र की बहुप्रतीक्षित नहर के निर्माण के संबंध में उन्होंने भोपाल में जल संसाधन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा कर ली है। जल्द से जल्द नहर का भूमिपूजन कार्यक्रम किया जायेगा। उन्होंने क्षेत्रीय निवासियों को भरोसा दिलाया कि पशुपालन विभाग के साथ-साथ अन्य विभागों से संबंधित समस्याओं के स्थायी निदान के लिये उनकी ओर से पुरजोर प्रयास किए जायेंगे। श्री यादव ने इस अवसर पर यह भी कहा कि प्रदेश सरकार गौवंश के संरक्षण के लिये कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की हर ग्राम पंचायत में अगले दो माह के भीतर गौशालायें स्थापित करने के प्रयास किए जायेंगे। इस दिशा में कार्रवाई प्रारंभ कर दी गई है। 

मंत्री बनने के बाद पहली बार ग्रामीण अंचल के भ्रमण पर पहुँचे पशुपालन मंत्री लाखन सिंह यादव का विभिन्न ग्रामों में भव्य एवं आत्मीय स्वागत किया गया। गाँव-गाँव में ढोल-ढमाकों और पुष्पहार से पशुपालन मंत्री श्री यादव का ग्रामीणों ने स्वागत किया। श्री यादव मंत्री बनने के बाद पहली बार तोड़ा, शिवनगर, बड़ेरा भारस, एराया, आँतरी, लदवाया, फतहपुर, खैरवाया, छीमक, सेतोल, देवरा, छिरेंटा, बागवई और भितरवार में पहुँचे। इन गाँवों के लोगों से रूबरू होकर ग्रामीणों की पशुपालन मंत्री ने जन समस्यायें सुनीं और समस्याओं के त्वरित निराकरण का भरोसा दिलाया।